Move to Jagran APP

सिर्फ यह कह कर नहीं बच सकते कि बयान को तोड़ा-मरोड़ा गयाः राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को केंद्रीय मंत्रियों वीके सिंह और किरण रिजिजू की विवादास्पद टिप्पणियों पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि वे लोग सिर्फ यह कह कर नहीं बच सकते कि बयान को तोड़ मरोड़कर या दूसरे अर्थ में पेश किया गया। हम लोगों को अपने विचार

By Kamal VermaEdited By: Published: Fri, 23 Oct 2015 11:12 AM (IST)Updated: Sat, 24 Oct 2015 08:32 AM (IST)

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को केंद्रीय मंत्रियों वीके सिंह और किरण रिजिजू की विवादास्पद टिप्पणियों पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि वे लोग सिर्फ यह कह कर नहीं बच सकते कि बयान को तोड़ मरोड़कर या दूसरे अर्थ में पेश किया गया। हम लोगों को अपने विचार रखते समय अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है।

फरीदाबाद में दलित बच्चों को जिंदा जलाने की घटना पर सिंह यह कह कर विवादों के केंद्र में आ गए कि अगर कोई कुत्ते पर पत्थर फेंकता है तो इसके लिए केंद्र को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है। वहीं गृह राज्य मंत्री रिजिजू ने बुधवार को पहले दिल्ली के एक पूर्व उपराज्यपाल की उस टिप्पणी पर सहमति जताई जिसमें उन्होंने कहा था कि उत्तर भारतीयों को कानून तोड़ने में मजा आता है।

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सत्ता में रहते हुए हमें बयान देते समय अधिक सावधानी बरतना चाहिए। मंत्रियों और भाजपा नेताओं को सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके बयानों का वही मतलब निकले जो उन्होंने कहा कि है उससे कोई गलत मतलब नहीं निकलना चाहिए। उन्होंने कहा कि सिंह और रिजिजू पहले ही सफाई दे चुके हैं। सिंह ने माफी भी मांगी है। यह मामला अब खत्म समझा जाना चाहिए।

मंत्रिमंडल से हटाकर जेल भेजो
विपक्ष ने बयान के लिए सिंह के खिलाफ अजा अजजा अत्याचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज करने और उन्हें मंत्रिमंडल से हटाने की मांग की है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने सिंह को तुरंत मंत्री पद से हटाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि तुच्छ और निम्न स्तर के बयान के लिए सिंह को जेल भेजा जाना चाहिए। उनका बयान देश के दलितों के आत्म सम्मान के खिलाफ है। यदि मोदी सिंह को नहीं हटाते हैं तो माना जाएगा कि उन्हें दलितों के सम्मान से कुछ लेना देना नहीं है।

कांग्रेस ने कहा- प्रधानमंत्री माफी मांगे
कांग्रेस ने कहा कि सिंह को मंत्रिमंडल से हटाकर प्रधानमंत्री को माफी मांगना चाहिए। आम आदमी पार्टी ने सिंह के खिलाफ पुलिस में शिकायत कर उनके खिलाफ अजा अजजा अत्याचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज करने की मांग की है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनावी रैलियों में कहा कि मोदी कहते हैं बिहार में जंगल राज है। हरियाणा में दलितों को जिंदा जला दिया क्या यह मंगल राज है।

दादरी,पंजाब अौर फरीदाबाद की घटनाअों पर गृहमंत्री राजनाथ सख्त

हालांकि इस पर उठे सवालों के बाद उन्होंने अपने बयान पर माफी भी मांग ली थी। विवादित बयान के खिलाफ यूथ कांग्रेस ने उनके खिलाफ बेंगलुरू में मामला भी दर्ज कराया है। इसके अलावा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कुछ दिन पहले कहा था कि उत्तर भारतीयों को नियम-कानून तोड़ने में मजा आता है। इस बयान पर भी नेताओं ने कड़ी अापत्ति जताई थी। इसके बाद उन्हें भी माफी मांगनी पड़ी थी।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.