चेन्नई। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता की संपत्ति पिछले चार सालों में दोगुने से भी ज्यादा हो गई है। साल 2011 में उनकी संपत्ति 51.40 करोड़ थी जबकि अभी यह 117.13 करोड़ हो गई है। इसका खुलासा जयललिता के आरके नगर उपचुनाव के लिए दिए गए हलफनामे और नामांकन पत्र से हुआ है।

जयलिलता ने जब 2011 के विधानसभा चुनाव के लिए श्रीरामनगर से हलफनामा दायर किया था तब उनके पास कुल 51.40 करोड़ रुपये की चल और अचल संपत्ति थी। मौजूदा हलफनामे से पता चलता है कि उनके पास 45.04 करोड़ रुपये की चल और 72.09 करोड़ की अचल संपत्ति है।

25 पृष्ठों के इस हलफनामे में जया ने कहा है कि उन्होंने बैंकों में 9.80 करोड़ रुपये निवेश किए हैं। चेन्नई में उनका आलीशान आवास उनकी संपत्ति का एक तिहाई हिस्सा कवर करता है। साल 1967 में उन्होंने 1.32 लाख की संपत्ति खरीदी थी और उनके पास 43.96 करोड़ रुपये की जमीन है। उनके पास नौ गाड़ियां हैं। जिनका बाजार मूल्य 42.25 लाख रुपये है।

हलफनामे में दी गई जानकारी के मुताबिक जयललिता के पास 21 किलो 280 ग्राम सोना और 1250 किलो चांदी है। इनकी कीमत सुनिश्चित नहीं की जा सकी है। जयललिता के परिवार में और कोई नहीं है जो उन पर निर्भर हो।

जयललिता के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएगी कर्नाटक सरकार

शुभ मुहुर्त में जया को शपथ दिलाने के लिए राष्ट्रगान बीच में रोका

Posted By: Rajesh Niranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप