मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली (जेएनएन)। तमिलनाडु से लेकर दिल्ली तक जलीकट्टू पर प्रतिबंध लगने से विरोध प्रदर्शन चल रहा है, तो वहीं सलेम के पास चिन्नामनईएकन्नपलायम गांव में वन विभाग के अधिकारियों ने गांववालों को इजाजत दे दी है कि वे लोमड़ी के साथ जलीकट्टू जैसे खेल का आयोजन कर सकते हैं।

हालांकि लोमड़ी, वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के अंतर्गत आती हैं, यह आयोजन वन विभाग के अधिकारियों की देखरेख में हुआ। अधिकारियों ने लोमड़ी का मुंह बांध दिया था ताकि वह इस खेल में हिस्सा ले रहे किसी प्रतिभागी को काट ना ले। सलेम जिले के अलग-अलग इलाकों में हर साल कानुम पोंगल के मौके पर फॉक्स जलीकट्टू नाम के इस खेल का आयोजन होता है।

जलीकट्टू के समर्थन में PM आवास के सामने धरने पर बैठे PMK सांसद अंबुमनि

बुधवार को गांववाले लोमड़ी को एक मंदिर के सामने लेकर आए और उसकी पूजा की गई। लोमड़ी को फूलों की माला पहनाई गई। इसके बाद लोमड़ी के पिछले पैर को एक पतली रस्सी से बांध दिया गया था जबकि इस खेल में भाग लेने वाले गांववाले लोमड़ी को पकड़ने की कोशिश में उसका पीछा कर रहे थे। खेल खत्म होने के बाद लोमड़ी को जंगल में छोड़ दिया गया।

जलीकट्टू को लेकर चैन्नई से लेकर दिल्ली तक प्रदर्शन, देखें तस्वीरें

Posted By: Suchi Sinha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप