Move to Jagran APP

'दुख की इस घड़ी में भारत ईरान के साथ...', इब्राहिम रईसी की मौत पर पीएम मोदी ने जताया शोक

PM Modi on Ebrahim Raisi death ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलीकॉप्टर बीते दिन एक ग्रामीण इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसका मलबा आज मिला। इस हादसे पर अब भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुख जताया है। पीएम ने कहा कि ईरान के राष्ट्रपति रईसी के दुखद निधन से गहरा दुख और सदमा लगा है। भारत-ईरान द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा।

By Agency Edited By: Mahen Khanna Published: Mon, 20 May 2024 11:20 AM (IST)Updated: Mon, 20 May 2024 11:41 AM (IST)
PM Modi on Ebrahim Raisi death पीएम मोदी ने जताया शोक।

एजेंसी, नई दिल्ली। PM Modi on Ebrahim Raisi death ईरान के राष्ट्रपति डॉ. सैयद इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई है। रईसी के साथ विदेश मंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियन, पूर्वी अजरबैजान प्रांत के गवर्नर मालेक रहमती और धार्मिक नेता मोहम्मद अली आले-हाशेम की भी मौत हो गई।

ईरानी राष्ट्रपति का हेलीकॉप्टर बीते दिन एक ग्रामीण इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसका मलबा आज मिला। इस हादसे पर अब भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुख जताया है।

पीएम मोदी ने कहा,

ईरान के राष्ट्रपति डॉ. सैयद इब्राहिम रईसी के दुखद निधन से गहरा दुख और सदमा लगा है। भारत-ईरान द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। उनके परिवार और ईरान के लोगों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। दुख की इस घड़ी में भारत ईरान के साथ खड़ा है।

तबाह हो गया हेलीकॉप्टर 

ईरान की सरकारी मीडिया प्रेस टीवी ने आज बताया कि रईसी और उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल को ले जा रहा हेलीकॉप्टर रविवार को पूर्वी अजरबैजान प्रांत के वरजाकन और जोल्फा शहरों के बीच स्थित दिजमार जंगल में दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

तस्नीम न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, रविवार को उत्तर पश्चिमी ईरान में दुर्घटनाग्रस्त हुए हेलीकॉप्टर में नौ लोग सवार थे। रईसी और उनके साथ आया प्रतिनिधिमंडल अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव के साथ अरास नदी पर एक बांध के उद्घाटन समारोह से लौट रहा था।

ईरानी कैबिनेट ने आपातकालीन सत्र आयोजित किया

प्रेस टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, रईसी और उनकी टीम की मौत की जानकारी के बाद, ईरानी कैबिनेट ने उपराष्ट्रपति मोहम्मद मोखबर की अध्यक्षता में एक आपातकालीन सत्र आयोजित किया।

ईरानी अधिकारियों ने कहा कि कुछ शवों को पहचानना तक मुश्किल हो रहा था, जो हादसे में जल चुके थे।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.