नई दिल्‍ली, एएनआई। भारत-अमेरिका की सेनाओं के बीच संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास 'युद्ध अभ्यास 22' का 18वां संस्करण इसी महीने उत्तराखंड में आयोजित होने वाला है। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि हर साल भारत और अमेरिका के बीच होने वाले इस 'युद्ध अभ्यास' का मकसद एक-दूसरे की 'बेस्‍ट प्रैक्टिस' का आदान-प्रदान करना होता है। बता दें कि इस युद्धाभ्यास के जरिए भारत अपनी हाई ऑल्टिट्यूड मिलिट्री वॉरफेयर की नीति अमेरिका के साथ साझा करेगा। इस दौरान आने वाली मुश्किलों का कैसे सामना किया जाता है, ये समझाएंगे। वहीं, अमेरिकी सेना भी अलास्का जैसे बेहद ही सर्द इलाकों में तैनात रहते हैं। यहां 12 महीने बर्फ जमी रहती है। ऐसे हालात में कैसे युद्ध किया जा सकता है, इसके बारे में अपने अनुभव अमेरिकी सैनिक साझा करेंगे।

Edited By: Tilakraj

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट