नई दिल्ली, एजेंसी। सरदार वल्लभ भाई पटेल की गगनचुंबी प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देखने के लिए गुजरात के केवडि़या गांव जाने में अब आसानी होगी। दिल्ली से अब केवडिया गांव के लिए सीधी ट्रेन चलेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए स्टेच्यू ऑफ यूनिटी, केवड़िया को देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही प्रधानमंत्री ने गुजरात में विभिन्न रेलवे परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि रेलवे के इतिहास में संभवत: पहली बार ऐसा हो रहा है जब एक साथ देश के अलग-अलग कोने से एक ही जगह के लिए इतनी ट्रेनों का हरी झंडी दिखाई गई हो। केवड़िया जगह भी तो ऐसी है, इसकी पहचान देश को एक भारत, श्रेष्ठ भारत का मंत्र देने वाले सरदार पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा से है। केवड़िया रेल कनेक्टिविटी से आदिवासी भाई बहनों का जीवन भी बदलने जा रहा है।

इन इमारतों का भी पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये दभोई-चांचोड़ आमान परिवर्तन, चांचोड़-केवड़िया आमान परिवर्तन नवनिर्मित प्रतापनगर-केवड़िया खंड के विद्युतीकरण और दभोई, चांचोड़ और केवड़िया स्टेशनों की नई इमारतों का उद्घाटन भी किया।

प्रधानमंत्री ने एमजी रामचंद्रन को किया याद

प्रधानमंत्री मोदी ने तमिलनाडु के दिवंगत पूर्व मुख्‍यमंत्री एमजी रामचंद्रन को उनकी जयंती पर याद किया और श्रद्धांजलि दी। उन्‍होंने कहा कि हम एमजीआर के आदर्शों का पूरा करने के लिए प्रयास कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि आज केवड़िया के लिए निकल रही ट्रेनों में एक ट्रेन पुरैच्ची तलैवर डॉ. एमजी रामचंद्रन सेंट्रल रेलवे स्टेशन से भी आ रही है। ये भी सुखद संयोग है कि आज भारत रत्न एमजी रामचंद्रन की जयंती भी है।

कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी दिखाई हरी झंडी

गुजरात में रेल से जुड़ी इन परियोजनाओं के उद्घाटन के मौके पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और रेल मंत्री पीयूष गोयल भी उपस्थित रहे। इसके साथ ही कई राज्यों के मुख्यमंत्रीयों ने भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उपस्थिति दर्ज कराई। पीएमओ ने बयान में कहा कि इन रेलवे स्टेशनों को स्थानीय विशेषताओं और आधुनिक यात्री सुविधाओं से लैस किया गया है। केवड़िया देश का पहला स्टेशन है जिसे हरित इमारत होने का प्रमाण पत्र मिला है।

इन स्थानों से ट्रेन रवाना

ये आठ ट्रेनें केवड़िया को वाराणसी, दादर, अहमदाबाद, हजरत निजामुद्दीन, रीवा, चेन्नई और प्रतापनगर से जोड़ेंगी। इस योजना के साथ ही भारतीय रेलवे के मैप पर विश्व की सबसे बड़ी प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को भी जगह मिल जाएगी। साथ ही केवड़िया के रेल लिंक से जुड़ने से यहां देश भर से सैलानी बिना किसी परेशानी से पहुंच सकेंगे। 

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देखने जाने में होगी आसानी 

इस ट्रेन के चलने से दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर भारत के अन्य शहरों के लोगों को स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देखने जाने में आसानी होगी। अभी वहां तक सीधी ट्रेन नहीं थी, लोगों को वडोदरा के बाद सड़क मार्ग से जाना पड़ता था। अधिकारियों ने कहा कि फिलहाल यह भी अन्य ट्रेनों की तरह विशेष ट्रेन के रूप में चलेगी। यात्रियों को भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम लिमिटेड की वेबसाइट या मोबाइल एप से टिकट बुक कराना होगा।

केवडिया स्टेशन भारत की पहली ग्रीन बिल्डिंग

पीएम मोदी ने तस्वीर साझा करते हुए लिखा है कि रविवार के कार्यक्रम के दौरान रेलवे से संबंधित अन्य परियोजनाओं का भी उद्घाटन किया जाएगा। इसमें दाभोई, चंदोद और केवडिया के नए स्टेशन भवन शामिल हैं।आपको खुशी होगी कि केवडिया स्टेशन भारत का पहला ग्रीन बिल्डिंग सर्टिफिकेशन है।

इन स्टेशन से ट्रेन रवाना होगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को गुजरात के केवड़िया के लिए वाराणसी, दादर, दिल्ली, अहमदाबाद, रीवा और चेन्नई स्टेशनों से एक्सप्रेस ट्रेनों को रवाना करेंगे। अहमदाबाद-केवड़िया जनशताब्दी ट्रेन में एक विस्टाडोम कोच भी होगा। इसे विशेष रूप से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ट्रेन की यात्रा को सुंदर और यादगार बनाने के लिए बनाया गया है।

प्रधानमंत्री ने इन ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी

1- 09103/04 केवडिया से वाराणसी महामना एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

2-02927/ 28 दादर से केवडिया दादर केवडिया एक्सप्रेस (प्रतिदिन)

3-09247/ 48 अहमदाबाद से केवडिया, जनशताब्दी एक्सप्रेस (प्रतिदिन)

4-09145 /46 केवडिया से हजरत निजामुद्दीन संपर्कक्रांति एक्सप्रेस (सप्ताह में 2 दिन)

5-09105/06 केवडिया से रीवा, केवडिया रीवा एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

6-09119/20 चेन्नई से केवडिया, चेन्नई केवडिया एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

7-09107/08 प्रतापनगर से केवडिया मेमू ट्रेन (प्रतिदिन)

8- 09109/10 केवडिया से प्रतापनगर मेमू ट्रेन (प्रतिदिन)

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप