नई दिल्‍ली, एजेंसियां/ब्‍यूरो। पश्चिम बंगाल और ओडिशा में अम्‍फान चक्रवात का कहर थमने के बाद भारत के दूसरे अधिकांश हिस्‍सों में प्रचंड गर्मी का प्रकोप देखा जा रहा है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department, IMD) ने चेतावनी दी है कि राजस्‍थान (Rajasthan) और मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अगले पांच दिनों तक लू का प्रकोप जारी रहेगा। जारी अलर्ट में कहा गया है कि अगले 24 घंटे में पश्चिमी राजस्‍थान के कुछ इलाके भीषण लू की चपेट में आ सकते हैं।

मौसम विभाग की ओर से जारी ऑल इंडिया वेदर बुलेटिन में कहा गया है कि प्रायद्वीपीय भारत और विदर्भ में भी अगले तीन से चार दिनों तक लू के थपेड़े जारी रहेंगे। इनके अलावा पूर्वी मध्‍य प्रदेश, दक्षिणी उत्‍तर प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ में भी अगले 24 घंटे तक लू का प्रकोप रहेगा। वहीं 24 मई से 26 मई के बीच सिक्किम और कुछ अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में भारी बारिश की आशंका जताई जा रही है।

मौसम विभाग की मानें तो तूफान के प्रभाव से भारी बारिश का खतरा अभी टला नहीं है। उप हिमालयी पश्चि‍म बंगाल (West Bengal), सिक्किम (Sikkim), असम (Assam) और मेघालय (Meghalaya) में 24 से 26 मई के दौरान भारी से ज्‍यादा भारी बारिश हो सकती है। यही नहीं अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में 24 मई को भारी बारिश की आशंका है। एजेंसी स्‍काईमेट वेदर की मानें तो केरल और दक्षिणी-तटीय कर्नाटक में भी एक-दो स्थानों पर मध्यम से भारी बारिश हो सकती है।

स्‍काईमेट वेदर ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि हिमाचल प्रदेश और पंजाब में एक-दो स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है। गुजरात, हरियाणा, तमिलनाडु, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में हीट वेब का असर दिखाई देगा। वहीं आंतरिक तमिलनाडु, कर्नाटक के शेष हिस्सों, जम्मू-कश्मीर, मुजफ्फराबाद और गिलगित-बाल्टिस्तान में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग की मानें तो चक्रवात अम्‍फान अब कमजोर होकर पूर्वोत्तर राज्यों पर निम्न दबाव के क्षेत्र के रूप में मौजूद है जिससे इन इलाकों में भारी बारिश का खतरा है।

मध्य प्रदेश में शुक्रवार को सबसे अधिक 46 डिग्री तापमान नौगांव में दर्ज किया गया। रतलाम, खरगोन, ग्वालियर, छतरपुर और दमोह में लू चली। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि एम्फन तूफान ने हवा का रुख बदल दिया है। हवा पश्चिमी चलने लगी है। पिछले तीन दिन में तूफान ने हवा से पूरी नमी खींच ली है। इस वजह से तापमान में उछाल आया है। वहीं राजस्थान में तेज गर्मी का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा। जयपुर सहित कई शहरों में तापमान 40 से 44 डिग्री के बीच दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार, तीन-चार दिन मौसम की स्थिति ऐसी ही बनी रहेगी।