नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने विपक्ष को लोकतंत्र की ताकत करार दिया है। उन्होंने कहा है कि विपक्ष के बगैर लोकतंत्र जीवित नहीं रह सकता है। बीआर अंबेडकर की सराहना करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि वह न केवल भारतीय संविधान के निर्माता थे, बल्कि आधुनिक भारत की नींव भी उन्होंने ही रखी थी।

अंबेडकर की पुण्यतिथि के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में रविवार को गृह मंत्री ने कहा, 'एक स्वस्थ लोकतंत्र में सरकार की भूमिका और प्रासंगिकता होती है तो विपक्ष की भी भूमिका महत्वपूर्ण रहती है। विपक्ष के बिना स्वस्थ लोकतंत्र की कल्पना नहीं की जा सकती।' इस कार्यक्रम में लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे भी मौजूद थे।

पढ़ेंः भारत में शिक्षा के साथ मिलता है संस्कार : राजनाथ सिंह

जीएसटी जैसे विधेयकों पर हरी झंडी के लिए विपक्ष के जरूरी समर्थन को ध्यान में रखते हुए राजनाथ ने श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय द्वारा खड़गे को आमंत्रित किए जाने की सराहना की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता भी श्रम मंत्री रह चुके हैं।

पढ़ेंः बाबा साहब के प्रति केंद्र सरकार का रुख दिखावटी : मायावती

संसदीय कार्य राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के मुताबिक, जीएसटी विधेयक और रीयल इस्टेट विधेयक राज्यसभा में सरकार की कार्यसूची में शामिल हैं। सरकार ने इन विधेयकों को सोमवार से शुरू होने जा रहे सप्ताह की कार्यसूची में रखा है।

गृह मंत्री ने कहा कि अंबेडकर अच्छी तरह जानते थे कि आर्थिक प्रणाली को पूंजी और श्रम दोनों की जरूरत होती है। पूंजी के वितरण के लिए उन्होंने कई संस्थानों की स्थापना की और श्रम के मुद्दों का समाधान करने के लिए काम भी किया।

पढ़ेंः बाबा साहब की स्मृति में पीएम मोदी ने जारी किए 125 और 10 रुपये के सिक्के

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप