नई दिल्ली, एजेंसी।‌ पूरे देश में आज राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जा रहा है। बेटियों के सशक्तिकरण के तौर पर यह दिन मनाया जाता है।‌ बेटियों को सशक्त बनाने के लिए भारत सरकार की ओर से कई सारी पहल की गई है, जिनमें बालिकाओं से जुड़ी ढेरों परियोजनाएं शामिल हैं। इन योजनाओं के तहत 'बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओं' सरकार का एक उल्लेखनीय कदम है, बेटियों के लिए बनाई गई योजनाओं को गृह मंत्री अमित शाह ने क्रांतिकारी सुधार बताया।

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेटियों को लेकर परियोजनाओं की सराहना की। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट कर कहा, 'श्री नरेंद्र मोदी जी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' जैसी ढ़ेरों योजनाओं से पूरे देश में बेटियों को गौरव और स्वाभिमान के प्रतीक के रूप में अपनाने की अपील की, जिसके परिणामस्वरूप जन अभियान में बदलाव और लिंगानुपात में क्रांतिकारी सुधार आए।'

राष्ट्रीय बालिका दिवस

भारत में 24 जनवरी को हर साल राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। साल 2008 में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने इसकी शुरुआत की थी। गर्ल चाइल्ड डे को मनाने के लिए 24 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि इसी दिन 1966 में इंदिरा गांधी ने भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी। बता दें कि समाज में बेटियों को लेकर संकीर्ण मानसिकता, कुरीतियों और बुराई को दूर करने के लिए यह दिवस मनाया जा है। इसके अलावा यह दिन बेटियों का उत्साहवर्धन करने के साथ-साथ उन्हें सशक्त बनने पर भी जोर दिया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य समाज में बालिकाओं को उनके अधिकार के प्रति जागरूक करना है‌। भारत सरकार द्वारा बेटियों को सशक्त बनाने के लिए ढेर सारी परियोजनाओं का आगाज किया गया है। यही नहीं केंद्र के साथ-साथ राज्य सरकारें भी बेटियों से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं पर काम कर रही हैं। 

Edited By: Ashisha Rajput