नई दिल्ली, जेएनएन। Ganesh Chaturthi Modak Recipe प्रथम पूज्य श्री गणेश हमारे अति विशिष्ट, सौम्य और आकर्षक देवता हैं। उनके आगमन के साथ ही पृथ्वी पर चारों तरफ रौनक, रोमांच और रोशनी बिखर जाती है। गजानन को प्रसाद रूप में मोदक सबसे ज्यादा प्रिय हैं। उनका मोदक प्रेम उनकी तस्वीरों और प्रतिमाओं में भी साफ दिखाई देता है। गणेशजी को मोदक बहुत प्रिय हैं। इसीलिए प्रसाद के रूप में चढ़ाया जाता है मोदक। गणेशजी को भोग लगाने के लिए इस बार घर पर ही बनाएं मोदक।

मावा मोदक

दो टी-कप मसला हुआ मावा (खोया), आधा टी-कप शक्कर, एक चौथाई टी-कप हल्के उबले, छिले बारीक कटे पिस्ता, एक चौथाई टीस्पून पिसी इलायची, थोड़ी सी केसर, एक टेबलस्पून दूध।

विधि

एक बर्तन में शक्कर और मावा मिलाकर आंच पर रखें। इसे चलाते हुए धीमी आंच पर पकाएं। पकने पर उतार लें। इसे ठंडा होने दें। केसर और दूध को अच्छी तरह मिलाकर रख दें।

मावे में पिस्ता, इलायची पाउडर, केसर-दूध का मिश्रण डालें और अच्छी तरह मिलाएं।

थोड़ा मावा मिश्रण लें और इसे मोदक के सांचे में एक तरफ रखें। फिर सांचे को अच्छी तरह दबा दें। इसी प्रकार से सारे मोदक तैयार करें।

फ्राइड मोदक

सामग्री स्टफिंग के लिए

एक टी-कप कसा हुआ नारियल, आधा टी-कप शक्कर, ढाई टेबलस्पून कसा हुआ मावा (खोया), एक टेबलस्पून कटा हुआ काजू, एक टेबलस्पून कटा हुआ पिस्ता, एक टेबलस्पून बादाम महीन कटा हुआ, आधा टीस्पून पिसी इलायची।

सामग्री आटे के लिए

एक टी-कप गेहूं का आटा, एक टेबलस्पून सूजी, दो टेबलस्पून घी, चुटकीभर नमक, तलने के लिए घी।

विधि स्टफिंग बनाने की

एक बर्तन में नारियल, शक्कर और मावा अच्छी तरह मिलाएं। इसे धीमी आंच पर हल्का भूरा होने तक पकाएं। इसमें मेवा व इलायची पाउडर डालें और अच्छी तरह मिलाएं। इसे मध्यम आंच पर एक मिनट और पकाएं।

मिश्रण को बराबर भागों में बांटकर ठंडा होने रख दें।

विधि आटा बनाने की

एक बड़े बर्तन में गेहूं का आटा और सूजी अच्छी तरह से मिलाएं।

एक छोटे नॉन स्टिक पैन में मध्यम आंच पर घी गर्म करें। इसे आटे के मिश्रण में मिलाएं, नमक डालें और एक चम्मच से अच्छी तरह मिलाएं और पानी का उपयोग करके सख्त आटा गूंध लें। आटे को स्टफिंग के मिश्रण के बराबर भागों में बांट लें।

विधि फ्राइड मोदक बनाने की

आटे के एक भाग को गोल करके तैयार किए गए स्टफिंग के एक भाग को बीच में रखें। इसे मोदक के सांचे में एक तरफ रखकर अच्छी तरह दबाएं या हाथों सेमोदक का आकार दें। हर भाग के लिए यही प्रक्रिया दोहराएं।

एक गहरे बर्तन में तेल गरम करें। इसमें मोदक डालकर सुनहरे होने तक सेंकें। मोदक तैयार हैं।

चावल मेवा मोदक

सामग्री

दो टी-कप चावल का आटा, डेढ़ टी-कप महीन गुड़, दो टी-कप कद्दूकस किया कच्चा नारियल, एक टेबलस्पून खसखस, चार टेबलस्पून काजू छोटे टळ्कड़ों में, तीन टेबलस्पून किशमिश, पांच छोटी इलायची कळ्टी हळ्ई, एक टेबलस्पून घी।

विधि

कड़ाही गरम कर खसखस डालकर थोड़ा रोस्ट कर अलग रख लें।

गुड़ और नारियल को कड़ाही में डालकर गाढ़ा होने तक भूनें। इसमें काजू, किशमिश, खसखस और इलायची मिला दें। मोदक में भरने के लिए भरावन तैयार है।

दो टी-कप पानी में एक टेबलस्पून घी डालें और गर्म करें। जब उबाल आ जाए तो गैस बंद कर दें। इसमें चावल का आटा डालकर अच्छी तरह मिला लें। इस मिश्रण को पांच मिनट के लिए ढककर रख दें।

इसे एक बर्तन में निकालें और गूंध लें। अगर यह सख्त लग रहा हो तो थोड़ा सा पानी मिला सकती हैं। अब एक कटोरी में थोड़ा घी निकालें और घी को हाथों मेंलगाकर इसे तब तक मसलें, जब तक कि यह नरम न हो जाए। इसे एक साफ कपड़े से ढककर रखें।

अब गुंधे हुए आटे से थोड़ा सा आटा निकालें और इसे गोल करके इसमें थोड़ी सी भरावन रखकर बंद कर दें। इसे मोदक के सांचे में एक तरफ रखकर दबाएं। सांचे के किनारों से अतिरिक्त मिश्रण हटा दें। इसी तरह सारे मोदक तैयार कर लें।

एक बर्तन में दो छोटे गिलास पानी डालें और गर्म होने के लिए रखें। फिर इसमें जाली वाला स्टैंड लगाकर चलनी में मोदक रखें और भाप में दस से पद्रंह मिनट तक पकने दें। मोदक तैयार हैं।