नागपुर। बिना हेलमेट पहने स्कूटर पर संघ मुख्यालय पहुंचे केन्द्रीय परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी विवादों में फंस गए। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाली यह तस्वीरें कैमरे में कैद हो गई, जिसके बाद विवाद हो गया।

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह कृत्य पार्टी और उनके नेताओं का रवैया दर्शाता है। मामले में गडकरी ने कोई भी प्रतिक्रिया करने से इंकार कर दिया। इतना ही नहीं उनके पीछे दूसरे वाहन पर बैठे सुरक्षाकर्मियों ने भी हेलमेट नहीं पहने थे। केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी अपने सफेद रंग के स्कूटर पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मिलने संघ मुख्यालय पहुंचे थे।

दिग्विजय सिंह ने निशाना साधते हुए कहा कि यह भले ही एक छोटी मोटी चीज है और किसी अन्य के लिए कोई मायने नहीं रखती लेकिन भारत सरकार के मंत्री के लिए यह एक अंतर पैदा करती है। वे उस कानून का उल्लंघन कर रहे हैं जिनका उन्हें लोगों से पालन करवाना है। यह पार्टी और उनके नेताओं के रवैये को दर्शाता है कि वे नियमों का पालन करने में विश्वास रखते हैं या नहीं।

नियमानुसार 100 रुपए जुर्माना

एक टीवी चैनल ने दावा किया है कि पूर्व भाजपा अध्यक्ष पिछले साल भी बिना हेलमेट के स्कूटर चलाते हुए कैमरे में कैद हुए थे। हालांकि यह अभी तक साफ नहीं हुआ है कि पुलिस इस मामले की जांच कर रही है या नहीं। नागपुर पुलिस वेबसाइट के अनुसार नागपुर में हेलमेट पहनना अनिवार्य है। ऐसा नहीं करने वाले के खिलाफ मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 177 के तहत 100 रपए जुर्माना लगाया जाएगा। नागपुर पुलिस के यातायात शाखा इंसपेक्टर पीबी लोखंडे ने कहा कि पुलिस मामले की जांच करेगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप