बेंगलुरु, प्रेट्र। देश के सबसे कुख्यात गैंगस्टरों में शुमार रवि पुजारी को रविवार को सेनेगल में भारतीय अधिकारियों ने अपनी गिरफ्त में ले लिया और अब उसे भारत ला रहे हैं। भारत के विभिन्न इलाकों में हत्या, अवैध वसूली समेत 200 से ज्यादा अपराधों के लिए वह जिम्मेदार है। पिछले 15 साल से वह देश से भागा हुआ था और सुरक्षा एजेंसियां उसे दबोचने के लिए प्रयासरत थीं।

पुजारी को जनवरी 2019 में गिरफ्तार किया

इंटरपोल के लुकआउट नोटिस के आधार पर सेनेगल पुलिस ने पुजारी को जनवरी 2019 में गिरफ्तार किया था। जिस समय सेनेगल पुलिस ने उसे पकड़ा, तब उसने अपना नाम एंथोनी फर्नाडीज बताया और बर्किनाफासो का फर्जी पासपोर्ट दिखाया था। लेकिन उसकी एक न चली। बाद में भारत ने उसके प्रत्यर्पण के लिए अर्जी दी लेकिन वह सेनेगल की अदालत से जमानत पर रिहा होकर फरार हो गया। कई महीने की मशक्कत के बाद सेनेगल और दक्षिण अफ्रीका की पुलिस ने जाल बिछाकर उसे दक्षिण अफ्रीका से गिरफ्तार किया। पुजारी कई वर्षो से इन्हीं दोनों देशों में रहकर अपने काले धंधे चला रहा था।

हत्‍या के एक मामले में है तलाश

बेंगलूरु में हुई एक हत्या के मामले में कर्नाटक पुलिस को उसकी तलाश थी। एनआइए, सीबीआइ और रॉ के अधिकारियों के साथ कर्नाटक पुलिस के अधिकारी भी पुजारी को सेनेगल से ला रहे हैं। सोमवार तड़के उसके भारत पहुंचने की संभावना है। पुजारी को सबसे पहले बेंगलुरु ले जाकर उस पर वहां दर्ज मामले के सिलसिले में मुकदमा चलाया जाएगा। इसके बाद अन्य स्थानों पर दर्ज मामले खोले जाएंगे। सेनेगल की अदालत ने भारतीय समयानुसार शनिवार देर रात पुजारी के प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी थी। इसके बाद उसे भारतीय अधिकारियों के हिरासत में दे दिया गया।

दाऊद और छोटा राजन का रह चुका है खास

पुजारी ने मुंबई से अपने आपराधिक जीवन की शुरुआत की थी। कुछ ही समय में वह छोटा राजन का चहेता बन गया और दाऊद इब्राहीम की नजरों में आ गया। इसके बाद वर्षो तक मुंबई अंडरव‌र्ल्ड में उसने दाऊद के गुर्गे के रूप में काम किया। पुलिस की नजरों में चढ़ने पर दुबई भाग गया और वहां पर दाऊद के धंधों को संभालने लगा। जब दाऊद और छोटा राजन में अलगाव हुआ तो वह छोटा राजन के साथ आ गया। लेकिन कुछ समय बाद उससे भी अलग हो गया और ऑस्ट्रेलिया में जाकर रहने लगा। वहां से वह कई देशों में रहने के बाद सेनेगल पहुंचा था। 2014 में उसकी पत्नी पद्मा जब बेटे के साथ मुंबई आई तो एयरपोर्ट पर ही मुंबई पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था।

पांच महीने पहले अहमदाबाद पुलिस ने अफ्रीकी सरकार को लिखा था पत्र

ज्ञात रहे कि गुजरात के कई उद्योगपति, राजनेता व व्‍यापारियों को करोड़ों की रंगदारी के लिए धमकाने के आरोपित मोस्‍टवांटेड कुख्‍यात डॉन रवि पुजारी को गुजरात लाने के लिए अहमदाबाद पुलिस ने करीब 5 पांच महीने पहले दक्षिण अ‍फ्रीकी सरकार को पत्र लिखा था। अहमदाबाद अपराध शाखा ने अ‍फ्रीका सेनेगल की सरकार को पत्र लिखकर कुख्‍यात डॉन रवि पुजारी के प्रत्‍यर्पण की मांग की थी।

रंगदारी के लिए इनको धमकाया 

रवि पुजारी पर अमूल के प्रबंध निदेशक आरएस सोढी सहित राज्‍य के कई बिल्‍डरों, व्‍यापारियों और उद्यमियों को फोन कर रंगदारी के लिए धमकाने का आरोप है। पुजारी ने निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी, कांग्रेस विधायक पुंजाजी वंश, भाजपा के पूर्व विधायक जीतू पटेल, विमल शाह सहित कई नेताओं को रंगदारी के लिए फोन किया था। अहमदाबाद अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक के जी चौधरी ने बताया कि गुजरात में रवि पुजारी के खिलाफ करीब 20 आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं। उसे जल्‍द गुजरात लाकर इन मामलों में पूछताछ की जाएगी।  

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस