नई दिल्ली, प्रेट्र। फ्रांसीसी रक्षा कंपनी सफ्रान ग्रुप ने मंगलवार को 3.6 करोड़ यूरो के निवेश से आधुनिक विमान इंजनों के लिए कलपुर्जो का हैदराबाद में उत्पादन केंद्र स्थापित करने की घोषणा की। इसके अलावा सफ्रान ग्रुप सरकारी रक्षा उपक्रम हिंदुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के साथ संयुक्त उद्यम भी स्थापित करेगा। सफ्रान नागरिक और लड़ाकू विमानों के आधुनिक इंजन उपकरणों के उत्पादन की अग्रणी कंपनियों में से एक है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सफ्रान ग्रुप के सीईओ ओलिविर एंड्रीज के बीच बैठक के बाद घोषणा की गई कि बेंगलुरु में संयुक्त उपक्रम हेलीकाप्टर के लिए इंजनों का उत्पादन करेगा। इसके तहत उत्पादित किए जाने वाले हेलीकाप्टर इंजन भारतीय बहु-उद्देश्यीय हेलीकाप्टरों के लिए होंगे। इन मीडियम-लिफ्ट हेलीकाप्टरों को फिलहाल एचएएल में विकसित किया जा रहा है।

इसके अलावा फ्रांसीसी कंपनी हैदराबाद में भारतीय और विदेशी वाणिज्यिक विमानों के लिए मेंटिनेंस, रिपेयर और ओवरहाल (एमआरओ) केंद्र भी स्थापित करेगी। इसे 15 करोड़ डालर के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश से भारतीय और विदेशी वाणिज्यिक विमानों में इस्तेमाल किए जाने वाले लीप-1ए और लीप-1बी इंजनों के लिए स्थापित किया जाएगा। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि एमआरओ केंद्र शुरुआत में प्रतिवर्ष 250 से अधिक इंजनों की ओवरहालिंग करेगा।

रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है, 'सीईओ ने राजनाथ सिंह को इसी हफ्ते सफ्रान एयरक्राफ्ट इंजंस और सफ्रान इलेक्टि्रकल एंड पावर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का उद्घाटन करने की अपनी योजना के बारे में भी बताया। दोनों हैदराबाद में स्थापित होंगी। सफ्रान-एचएएल एयरक्राफ्ट इंजंस की संयुक्त उपक्रम के रूप में बेंगलुरु में स्थापना होगी।' बैठक में एंड्रीज ने राजनाथ सिंह को विमान इंजनों से इतर तकनीक के क्षेत्र में सफ्रान की क्षमताओं के बारे में भी बताया।

Edited By: Arun Kumar Singh