हैदराबाद, एजेंसी। Free Water in Hyderabad- तेलंगाना में चुनावी वादे को पूरा करने के लिए, राज्य सरकार सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 20,000 लीटर (20 केएल) तक 'मुफ्त' पानी दे रही है। तेलंगाना की सरकार ग्रेटर हैदराबाद के लोगों के लिए मुफ्त पानी देने की योजना शुरू की। इससे ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के लिए पिछले महीने हुए चुनाव में किया गया एक बड़ा वादा पूरा किया गया है।

इस योजना में घरेलू-स्लम, घरेलू-व्यक्तिगत, घरेलू-बहुमंजिला इमारत (एमएसबी)/थोक कनेक्शन 20 केएल (20000 लीटर) मुफ्त पानी की आपूर्ति के लिए योगय हैं।

सरकार ने कहा कि योजना का लाभ उठाने के लिए मीटर फिक्स करने के लिए घरेलू-झुग्गी कनेक्शन की आवश्यकता नहीं है, हालांकि, घरेलू-व्यक्तिगत, घरेलू-एमएसबी/बल्क कनेक्शन को योजना की पात्रता के लिए उनके कनेक्शन के लिए "कार्यात्मक मीटर फिक्स्ड" मिलेगा।

एएनआइ से बात करते हुए मसाब टैंक निवासी मोहम्मद असदुल्ला खान ने राज्य सरकार को धन्यवाद दिया और कहा कि वे अच्छी सुविधाएं दे रहे हैं।

उन्होंने कहा 'हमें हर दिन पीने का पानी मिल रहा है और सरकार अच्छी सुविधाएं दे रही है। अब सरकार हमें मुफ्त में पीने का पानी दे रही है, हमें पानी के बिल के लिए एक रुपये भी देने की जरूरत नहीं है। हम गरीबों की देखभाल के लिए तेलंगाना सरकार को धन्यवाद देते हैं। लोग हमें पसंद करते हैं।'

एक और निवासी ने कहा 'केसीआर के मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने गरीब लोगों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं लागू कीं। केसीआर राज्य के लिए भाग्यशाली हैं, आंदोलन से वे सीएम बने। तेलंगाना राज्य में अच्छी बारिश हुई जिससे सभी बांधों और जलाशयों में पानी भर गया। तेलंगाना में हर व्यक्ति है उनके साथ खुश।'

एक अन्य निवासी, मोहम्मद इदरीस ने कहा कि गरीबों को मुफ्त पानी की आपूर्ति से लाभ हुआ है। इदरीस ने आगे कहा 'मैं तेलंगाना सरकार और केसीआर को निवासियों के लिए मुफ्त पेयजल आपूर्ति प्रदान करने के लिए धन्यवाद देता हूं। पिछले डेढ़ से दो साल से हम पानी के बिल का भुगतान नहीं कर रहे हैं। हमारे जैसे गरीब लोग इस योजना से लाभान्वित हैं। इससे पहले पानी की कमी थी लेकिन केसीआर के मुख्यमंत्री बनने के बाद पानी की कोई कमी नहीं है।'

मुख्यमंत्री ने की पानी न बर्बाद करने की अपील

वहीं मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने लोगों से अपील की कि वे सुनिश्चित करें कि पानी बर्बाद नहीं होगा। उन्होंने कहा कि यदि यह योजना हैदराबाद में सफलतापूर्वक लागू की जाती है, तो इसे बाद में अन्य नगरपालिकाओं में भी लागू किया जाएगा।

Edited By: Babli Kumari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट