जम्मू [जागरण ब्यूरो]। सीमांत क्षेत्रों में फसल कटाई के लिए तैयार होते ही पाकिस्तान ने किसानों को परेशान करना शुरू कर दिया है। बुधवार को सांबा जिले में फ्लैग मीटिंग करने के बाद पाकिस्तान ने कठुआ जिले की हीरानगर तहसील में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गोलीबारी कर अपनी मंशा साफ कर दी।

सीमा सुरक्षा बल के आग्रह पर पाकिस्तानी रेंजर्स ने सांबा जिले के रामगढ़ की चमलियाल पोस्ट पर दोपहर सवा बारह बजे तक फ्लैग मीटिंग की। इसका मकसद कटाई के दौरान सीमा पर शांति बनाए रखना था।

उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार रेंजर्स ने सीमा पर सहमति से सफाई व सरकंडे हटाने जैसे मामलों पर विचार-विमर्श तो किया, लेकिन यह विश्र्वास एक भी बार नहीं दिलाया कि वह कटाई के दौरान गोलीबारी नहीं करेगा। शायद यही कारण है कि पाकिस्तानी रेंजरों ने बोबिया के करोल माथरिया स्थित भारतीय चौकियों को निशाना बनाते हुए गोलीबारी की।

पहले पाकिस्तान ने चार पांच राउंड फायर करने के बाद फाय¨रग बंद कर दी। लेकिन चंद मिनटों के बाद पाकिस्तान ने ताबड़तोड़ फाय¨रग करते हुए फिर चौकियों को निशाना बनाया।

इस बीच, रामगढ़ में हुई फ्लैग मीटिंग में दोनों ओर से अधिकारियों के साथ खासी संख्या में जवानों ने भी हिस्सा लिया। सीसुब की ओर से बैठक में 200 बटालियन के कमांडेंट सुखदेव राज, चार सहायक कमांडेंट, दो सब इंस्पेक्टरों व 30 जवानों ने हिस्सा लिया। वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान की ओर से इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए 12 चिनाब रेंजर्स के विंग कमांडर मुहम्मद अली, पांच सब इंस्पेक्टरों व 25 अन्य रैंक के कर्मियों ने हिस्सा लिया।

पढ़ें : पाक ने परमाणु क्षमता वाले गौरी मिसाइल का परीक्षण किया

Posted By: Sanjay Bhardwaj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप