Move to Jagran APP

सूडान से दिल्ली पहुंचा 360 भारतीयों का पहला जत्था, लोगों ने लगाए भारतीय सेना व पीएम मोदी जिंदाबाद के नारे

ऑपरेशन कावेरी के तहत हिंसा प्रभावित सूडान से निकाले गए 360 भारतीयों का पहला जत्था वायुसेना के विमान से दिल्ली पहुंचा। भारतीयों ने भारत माता की जय भारतीय सेना जिंदाबाद और पीएम नरेन्द्र मोदी जिंदाबाद के नारे लगाए। Photo- ANI

By Jagran NewsEdited By: Devshanker ChovdharyPublished: Thu, 27 Apr 2023 02:05 AM (IST)Updated: Thu, 27 Apr 2023 02:05 AM (IST)
सूडान से दिल्ली पहुंचा 360 भारतीयों का पहला जत्था।

नई दिल्ली, पीटीआई। ऑपरेशन कावेरी के तहत हिंसा प्रभावित सूडान से निकाले गए 360 भारतीयों का पहला जत्था बुधवार को वायुसेना के विमान से दिल्ली पहुंचा। इन भारतीयों को जेद्दा (सऊदी अरब) के रास्ते स्वदेश लाया गया है। दिल्ली पहुंचने पर इन भारतीयों ने 'भारत माता की जय', 'भारतीय सेना जिंदाबाद' और 'पीएम नरेन्द्र मोदी जिंदाबाद' के नारे लगाए।

एएनआई के अनुसार, विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने जेद्दा हवाई अड्डे पर इन भारतीयों को विदा किया। इससे पहले वायुसेना के दो विमानों ने 250 से अधिक भारतीयों को सुरक्षित निकालकर जेद्दा पहुंचाया। मंगलवार को नौसेना के जहाज आइएनएस सुमेधा से 278 नागरिकों को जेद्दा लाया गया था।

इस तरह ऑपरेशन कावेरी के तहत अब तक लगभग 530 भारतीय सूडान से सुरक्षित निकाले जा चुके हैं। सूडान से निकाले गए भारतीयों को जेद्दा शहर में बनाए गए केंद्र पर सभी तरह की आवश्यक सुविधाएं दी जा रही हैं। आइएनएस सुमेधा के बाद वायुसेना के विमान सी-130जे से भारतीयों के दूसरे और तीसरे जत्थे को बुधवार को जेद्दा लाया गया।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बताया कि पहले सी-130जे विमान से 121 लोगों को और इसके बाद 135 लोगों को जेद्दा पहुंचाया गया। बुधवार को उन्होंने ट्वीट किया कि आपरेशन कावेरी तेजी से चल रहा है। सूडान में संघषर्रत सेना और अर्धसैनिक बल के 72 घंटे के संघर्ष विराम के बाद भारत ने अपने नागरिकों को निकालने की कार्रवाई और तेज कर दी है।

बता दें कि सूडान में 13 दिन से चल रहे संघर्ष में चार सौ से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। इनमें एक भारतीय भी शामिल है। संघर्ष शुरू होने पर बताया गया था कि सूडान में लगभग तीन हजार से अधिक भारतीय फंसे हुए हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.