गुवाहाटी, एएनआइ/एजेंसियां। Earthquake in Assam, असम में आज सुबह एक बड़ा भूकंप आया। असम में आज सुबह भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप के झटकों की तीव्रता 6.4 मापी गई । नेशनल सेंटर ऑफ़ सिस्मोलॉजी(National Center for Seismology) ने बताया कि असम में आज सुबह 7 बजकर 51 मिनट पर भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। इस भूकंप से असम हिल गया है। फिलहाल जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं आई है। 

तीन झटके महसूस किए गए, बंगाल-मेघालय तक पहुंचा भूकंप !

इस भूकंप का केंद्र सोनितपुर था और ये भूकंप 17 किलोमीटर की गहराई पर सुबह 7.51 बजे आया । समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, जान-माल के नुकसान की कोई रिपोर्ट नहीं की गई है। अधिकारियों के मुताबिक, असम में एक के बाद एक तीन भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिनमें से 6.4 तीव्रता का भूकंप सबसे तेज था। भूकंप के ये तेज झटके असम के साथ मेघालय और दक्षिणी बंगाल में भी महसूस किए गए। 

असम में भूकंप के तेज झटकों के बाद नगांव में एक इमारत अपने आस-पास की इमारत की ओर झुक गई। रिक्टर स्केल पर 6.4 की तीव्रता वाले भूकंप ने आज सोनितपुर को दहला दिया। नगांव में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए।

मुख्यमंत्री की हालात पर नजर, पीएम मोदी ने की बात

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने असम में आए तेज भूकंप पर कहा कि असम में बड़ा भूकंप आया है। मैं सभी की भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं और सभी से सतर्क रहने का आग्रह करता हूं। उन्होंने कहा कि मैं सभी जिलों से इसको लेकर अपडेट ले रहा हूं।

पीएम मोदी ने भी असम में भूकंप को लेकर ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा राज्य के कुछ हिस्सों में भूकंप को लेकर असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल से बात की। केंद्र से हर संभव मदद का आश्वासन दिया। मैं असम के लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं।

भूकंप के झटके के बाद अब असम से नुकसान की तस्वीरें सामने आने लगी है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने दो तस्वीरें शेयर की है। इसमें भूकंप के तेज झटकों से होने वाला नुकसान दिख रहा है। तस्वीरों में घर की दीवारें टूटकर जमीन पर गिरी नजर आ रही हैं।

सिलीगुड़ी समेत अन्य इलाकों में भूकंप के झटके, लोग घरों से बाहर निकले

पूर्वोत्तर के प्रवेश द्वार सिलीगुड़ी समेत उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में बुधवार सुबह 7:55 पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिस समय भूकंप के झटके महसूस किए गए उस समय ज्यादातर लोग अपने घरों में सोए हुए थे। उसके बाद चारों तरफ भूकंप भूकंप का शोर मचना शुरु हो गया। अफरा तफरी का माहौल कुछ समय के लिए देखा जा रहा था। जो जहां थे वही सुरक्षित स्थानों पर अपने आप को छुपाने की कोशिश करने लगे। करीब 20 सेकंड तक कंपन महसूस होने के बाद स्थिति सामान्य हुई।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप