Move to Jagran APP

राजनाथ बोले, मुफ्ती के बयान से इत्‍तेफाक नहीं रखती एनडीए और भाजपा

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर में विधानसभा चुनावों के लिए बेहतर माहौल बनाने के पीछे चुनाव आयोग, राज्‍य की जनता और सेना का महत्‍वपूर्ण योगदान रहा। इन्‍हीं की वजह से जम्‍मू-कश्‍मीर में शांतिपूर्ण ढंग से विधानसभा चुनाव हो सके। हालांकि इससे पहले जम्‍मू-कश्‍मीर के मुख्‍यमंत्री मुफ्ती मोहम्‍मद

By Tilak RajEdited By: Published: Mon, 02 Mar 2015 12:43 PM (IST)Updated: Mon, 02 Mar 2015 02:06 PM (IST)

नई दिल्ली। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में बयान देते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनावों के लिए बेहतर माहौल बनाने के पीछे चुनाव आयोग, राज्य की जनता और सेना का महत्वपूर्ण योगदान रहा। इन्हीं की वजह से जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण ढंग से विधानसभा चुनाव हो सके। हालांकि इससे पहले जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने कहा था कि राज्य में चुनावों के लिए बेहतर माहौल बनाने में पाकिस्तान और हुर्रियत नेताओं का हाथ रहा है।

loksabha election banner

मुफ्ती के बयान से विपक्षी पार्टियों को बैठे-बिठाए मोदी सरकार पर हमला करने का एक मौका मिल गया। विपक्ष ने इस मुद्दे पर सोमवार को खूब हंगामा किया। विपक्ष ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनका मत रखने के लिए कहा। लेकिन मोदी सरकार ने साफ कर दिया है कि वो मुफ्ती के बयान से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। लोकसभा में बयान देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर में अगर विधानसभा चुनाव बेतहर तरीके से और शांतिपूर्ण ढंग से हो पाएं हैं तो इसका पूरा श्रेय चुनाव आयोग, आर्म्ड फोर्स और चुनाव आयोग को जाता हे।'

राजनाथ सिंह ने कहा कि एनडीए सरकार और भाजपा जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के उस बयान से बिल्कुल भी सहमत नहीं है, जिसमें उन्होंने चुनाव का श्रेय पाकिस्तान और हुर्रियत नेताओं को दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि यह बयान वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से विचार-विमर्श करने के बाद दे रहे हैं। इसलिए उनके बयान को प्रधानमंत्री का मत भी समझा जाए।

बहुजन समाजवादी पार्टी की मुखिया मायावती ने भी जम्मू-कश्मीर सीएम मुफ्ती के विवादित बयान पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा, 'जम्मू-कश्मीर में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव करने में सबसे अहम भूमिका चुनाव आयोग की रही है।'

नेशनल कॉन्फ़्रेंस के वरिष्ठ नेता मोहम्मद अकबर लोन ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री बनने के बाद मुफ्ती मोहम्मद सईद ने आवाम का शुक्रियाअदा करने की बजाए पाकिस्तान, हुर्रियत, आतंकवादियों को धन्यवाद दिया, यह बहुत गलत बात है। उन्होंने कहा, 'मुफ्ती अपने इस बायन को वापिस ही न लें, बल्कि उन्हें जम्मू-कश्मीर की आवाम से इसके लिए माफी भी मांगनी चाहिए।'

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने सत्ता संभालते ही एक बयान से विवाद को जन्म दे दिया। उन्होंने पाकिस्तान, हुर्रियत और आतंकियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इन तीनों ने चुनाव के लिए प्रदेश में बेहतर माहौल बनाया।

इसे भी पढ़ें: सीएम बनते ही बदले मुफ्ती के सुर, की पाकिस्तान की तारीफ

इसे भी पढ़ें: मुफ्ती का विवादित बयान, पाक व आतंकियों ने बनाए बेहतर चुनावी माहौल


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.