नई दिल्ली, एएनआइ। मुख्य न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और खुफिया एजेंसी द्वारा बुधवार को बैठक आयोजित की गई। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर कहा गया कि कोई भी भारत के मुख्य न्यायाधीश के करीब जा सकता है और उन्हें माला पहना सकता है और सेल्फी ले सकता है,जो कि बेहद खतरनाक है।

पास जाकर कोई भी ले सकता है सेल्फी

बैठक के दौरान इस पर जोर दिया गया कि भारत के मुख्य न्यायाधीश की सुरक्षा बेहद कमजोर है। दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट सीपी (सुरक्षा) आई डी शुक्ला की ओर से एक पत्र लिखा गया है। जिसमें कहा गया कि चर्चा के दौरान यह मुद्दा उठाया गया कि एक प्वाइंट पर आकर दिल्ली पुलिस की सुरक्षा इतनी कमजोर हो जाती है कि कोई भी CJI Ranjan Gogoi के पास जा सकता है और उनके साथ सेल्फी ले सकता है। इसकी सराहना नहीं होनी चाहिए, बल्कि इसे तुरंत रोकने की जरूरत है।

सुनिश्चित की जाए पुलप्रूफ सुरक्षा

उच्चस्तरीय बैठक के बाद कहा गया कि CJI रंजन गोगोई की सुरक्षा से जुड़ी सभी सुरक्षा एजेंसियों को उनके काफिले की पार्किंग को सुरक्षित करने और नजदीकी टीम को तैनात किया जाए। पत्र में ये भी कहा गया कि मौजूदा सुरक्षा की स्थिति को देखते हुए यह जरूरी है कि इससे जुड़ी सभी एजेंसियां सभी उच्च अधिकारियों की फुलप्रूफ सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस