नई दिल्ली, आइएएनएस: अगर आप वाट्सएप यूजर हैं तो सतर्क हो जाएं। वाट्सएप में कई खतरनाक बग आ गए हैं। भारतीय साइबर एजेंसी इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम - आइएन (सीईआरटी-आइएन) ने बुधवार को इस बारे में अलर्ट जारी किया। बग्स के जरिये साइबर हमलावर दूर से ही मालवेयर इंस्टाल कर सकते हैं। इलेक्ट्रानिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत आने वाले सीईआरटी-आइएन ने वाट्सएप के एंड्रायड और आइओएस दोनों वर्जन में मालवेयर इंस्टाल किए जाने की आशंका जताई है। वीडियो काल के जरिये या यूजर्स को वीडियो फाइल भेजकर मालवेयर इंस्टाल किया जा सकता है। इससे यूजर्स का डाटा भी लीक हो सकता है। सीईआरटी ने सीईआरटी-इन ने वाट्सएप यूजर्स को नवीनतम सुरक्षा अपडेट इंस्टाल करने की सलाह दी है।\

क्या है वाट्सएप

व्हाट्सएप, एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध फ्रीवेयर, क्रॉस-प्लेटफॉर्म सेंट्रलाइज्ड इंस्टेंट मैसेजिंग (आईएम) और वॉयस-ओवर-आईपी (वीओआईपी) सर्विस है। जो अमेरिकी कंपनी मेटा प्लेटफॉर्म्स के स्वामित्व में है। यह यूजर्स को टेक्सट और वाइस मैसेज भेजने के साथ वीडियो कॉल करने और फोटो, दस्तावेज, लोकेशन और अन्य सामग्री साझा करने की सुविधा देता है।

मोबाइल डिवाइस पर चलता है वाट्सएप

व्हाट्सएप का क्लाइंट एप्लिकेशन मोबाइल डिवाइस पर चलता है और इसे कंप्यूटर से एक्सेस किया जा सकता है। सर्विस के लिए साइन अप करने के लिए एक सेलुलर मोबाइल टेलीफोन नंबर की आवश्यकता होती है। जनवरी 2018 में, व्हाट्सएप ने व्हाट्सएप बिजनेस नामक एक स्टैंडअलोन बिजनेस ऐप जारी किया था जो मानक व्हाट्सएप क्लाइंट के साथ संवाद कर सकता है। एक रिपोर्ट की माने तो सिर्फ भारत में ही व्हाट्सएप के करीब 50 करोड़ यूजर्स होने का अनुमान है।                                                                                                      

Edited By: Amit Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट