नई दिल्ली, पीटीआइ। संगीत नाटक अकादमी की पूर्व प्रमुख लीला सैमसन के खिलाफ शनिवार को सीबीआइ ने एक मामला दर्ज किया। इन पर आरोप है कि उन्होंने कुथम्बलम सभागार (Koothambalam auditorium) के नवनीकरण के दौरान 7.02 करोड़ रुपए की कथित अनियमितता की। अधिकारियों ने शनिवार को इसकी जानकारी दी। उनके अलावा इस केस में अन्य लोगों पर केस दर्ज किया गया है।   

अधिकारियों के मुताबिक, लीला सैमसन के अलावा फाउंडेशन के तत्कालीन मुख्य लेखा अधिकारी टीएस मूर्ति, लेखा अधिकारी एस. रामचंद्रन, इंजिनियरिंग अधिकारी वी. श्रीनिवासन और कई इंजीनियरों के खिलाफ भी मामले दर्ज किए गए हैं।

संस्कृति मंत्रालय के मुख्य सतर्कता अधिकारी ने अपनी शिकायत में उन पर आरोप लगाया था कि फाउंडेशन के अधिकारियों नियमों का उल्लंघन किया है। इस दौरान उन्होंने कुथम्बलम सभागार  के नवनीकरण के दौरान 7 करोड़ की अनियमितता बरती। बता दें कि लीला सैमसन को पद्मश्री से सम्मानित किया जा चुका है। वहीं वह केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं।

तमिल फिल्म से किया था डेब्यू 

लीला का जन्म तमिलनाडु में हुआ। फिल्मों में भी लीला ने काम किया हुआ है। साल 2005 में उन्होंने तमिल फिल्म कनमनी से डेब्यू किया। इसके बाद इस फिल्म के हिंदी रीमेक ओके जानू में उन्होंने अपनी भूमिका को दोहराया। सैमसन को नेहरू परिवार से भी रहा है। क्योंकि वह कांग्रेस नेता प्रियंका वाड्रा की डांस टीचर रही हैं।

आलोचनाओं से भी रहा है नाता

सैमसन का आलोचनाओं से भी नाता रहा है। विश्व हिंदू परिषद ने  2014 में आमिर खान-स्टारर फिल्म पीके को बिना किसी कट के पास करने पर आलोचना की थी, जबकि दो बोर्ड के सदस्यों ने इसे प्रमाणित करने के बाद इस्तीफा दे दिया था, कथित तौर पर हिंदू दर्शन को उपहास करने और हिंदू भावनाओं को चोट पहुंचाने वाली सामग्री के कारण उनकी आलोचना हुई थी। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस