Move to Jagran APP

84 कोसी परिक्रमा पर गरमायी सियासत

जागरण टीम, लखनऊ। चौरासी कोसी परिक्रमा पर उद्गम स्थल से लेकर अयोध्या तक प्रशासन चौकन्ना है तो वहीं यात्रा पर प्रतिबंध के बावजूद विहिप अपने फैसले पर अडिग है। राजधानी लखनऊ पहुंचे भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह के प्रदेश सरकार को आड़े हाथ लेने से सियासी माहौल की तपिश और बढ़ गई।

By Edited By: Published: Fri, 23 Aug 2013 03:22 AM (IST)Updated: Fri, 23 Aug 2013 03:46 AM (IST)

जागरण टीम, लखनऊ। चौरासी कोसी परिक्रमा पर उद्गम स्थल से लेकर अयोध्या तक प्रशासन चौकन्ना है तो वहीं यात्रा पर प्रतिबंध के बावजूद विहिप अपने फैसले पर अडिग है। राजधानी लखनऊ पहुंचे भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह के प्रदेश सरकार को आड़े हाथ लेने से सियासी माहौल की तपिश और बढ़ गई। उधर सपा ने कहा कि भाजपा संतों को मोहरा बना रही है तो वहीं कांग्रेस ने प्रतिबंध का समर्थन किया है।

loksabha election banner

विश्व हिंदू परिषद की चौरासी कोसी परिक्रमा को लेकर प्रदेश की सियासत में घमासान छिड़ गया है। रोक के बावजूद विहिप ने साफ कर दिया है कि परिक्रमा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होगी। यदि सरकार ने बलपूर्वक रोकने का प्रयास किया तो उसे 1992 जैसे हालात का सामना करना पड़ेगा।

अपने छोटे भाई की अस्थियां प्रवाहित करने प्रयाग पहुंचे विहिप के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक सिंघल ने कहा कि 20 दिवसीय यात्रा के लिए जब वह 17 अगस्त को मुलायम सिंह यादव से मिले उस समय सरकार ने यात्रा रोकने के कोई संकेत नहीं दिए थे। सपा सरकार ने मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए आजम खां के आगे घुटने टेक दिए हैं। उनका मानना है कि धार्मिक यात्रा रोकने के पीछे जेहादी मानसिकता काम कर रही है।

विहिप नेता ने कहा कि सरकार की घुड़की से न संत डरने वाले हैं और न ही रामभक्त। मुलायम सिंह यादव ने 1990 में भी भाषण दिया था कि अयोध्या में परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा, लेकिन वहां क्या हुआ सबको मालूम है। उसी तरह 84 कोसी परिक्रमा हर हाल में होगी। हालांकि अशोक सिंघल ने दावा किया कि इस यात्रा के पीछे कोई राजनीति नहीं है।

लखनऊ पहुंचे भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने फैसले पर पुनर्विचार किए जाने पर जोर देते हुए कहा कि संतों को सुरक्षा न देने वालों को सत्ता में बने रहने का हक नहीं है। राजनाथ सिंह ने यात्रा को सांस्कृतिक और धार्मिक आस्था से जुड़ा मामला बताया। राजनाथ सिंह ने यात्रा पर प्रतिबंध को चुनौती के रूप लेते हुए कहा कि प्रदेश में ऐसे हालात पैदा कर देना जनहित में नहीं है।

उधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. निर्मल खत्री ने प्रदेश की सपा सरकार द्वारा परिक्रमा पर प्रतिबंध लगाने का स्वागत किया है लेकिन आशंका भी जाहिर की है कि मामला सपा-भाजपा की मिलीभगत का तो नहीं है क्योंकि दोनों धार्मिक धु्रवीकरण का फायदा उठाने की फिराक में हैं। कहा कि विहिप का आयोजन निर्धारित परम्परा से हटकर है और साथ ही यह कोई धार्मिक आयोजन नहीं है क्योंकि इसके जरिए विहिप ने राम मंदिर बनाने का एलान किया है।

डॉ. खत्री ने कहा कि केंद्र में जब अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी तब विहिप ने इस तरह का आयोजन क्यों नहीं किया। इससे साफ है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में मृतप्राय भाजपा को संजीवनी देने के लिए विहिप यह आयोजन कर रही है।

संतों को मोहरा बना रही भाजपा : सपा

जाब्यू, लखनऊ। सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि लोकसभा चुनाव में हार के डर से भाजपा घबरायी हुई है। लिहाजा वह और उसके अनुसांगिक संगठन संत-महात्माओं को मोहरा बनाने और सांप्रदायिकता उभारने की साजिश में जुट गए हैं। मगर, सपा सरकार इस साजिश को सफल नहीं होने देगी। विहिप, आरएसएस और भाजपा जिस परिक्रमा के बहाने सियासी साजिश रच रही है, उसके होने का कोई पूर्व प्रमाण नहीं है। अगस्त-सितंबर में अयोध्या में कोई परिक्रमा नहीं होती। सपा प्रवक्ता ने कहा कि 1992 में भाजपा, संघ और विहिप ने ऐसे ही भाषा प्रयोग की थी, जिससे बाबरी मस्जिद का विध्वंस हुआ। तब भी कांग्रेस चुप थी। भाजपा की चाल में कांग्रेस को शायद कुछ स्वार्थ साधता दिख रहा होगा। कहा, सांप्रदायिक तत्व जान लें कि उत्तर प्रदेश को किसी भी हालत में गुजरात नहीं बनने दिया जाएगा।

विहिप की अयोध्या यात्रा को लेकर प्रशासन चौकन्ना

जाब्यू, लखनऊ। अयोध्या में विहिप की प्रस्तावित यात्रा को लेकर चौकसी और कड़ी गयी है। अपर पुलिस महानिदेशक अरुण कुमार को इलाके में कैम्प करने का निर्देश दिया गया है। शासन ने फैजाबाद और उसके आसपास के क्षेत्र में दो पुलिस अधीक्षक, 16 अपर पुलिस अधीक्षक, 32 पुलिस उपाधीक्षक, 80 निरीक्षक , 247 उपनिरीक्षक, 600 सिपाही के साथ ही 13 कम्पनी पीएसी, एक कम्पनी फ्लड पीएसी तैनात कर दी है। इसके अलावा एक कम्पनी अतिरिक्त आरएएफ तैनात की गयी है। पुलिस महानिरीक्षक राजकुमार विश्वकर्मा ने बताया कि कानून व्यवस्था बरकरार रखने में कोई कोताही नहीं होने दी जाएगी। फैजाबाद में जायजा लेने के बाद अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) अरुण कुमार ने बताया कि कानून से खिलवाड़ करने की किसी को इजाजत नहीं दी जाएगी। वहीं बस्ती में गुरुवार को डीएम अनिल कुमार दमेले व एसपी वीपी श्रीवास्तव ने परिक्रमा के उद्गम स्थल मखौड़ा धाम का दौरा किया। श्रीराम जानकी मंदिर के महंत को जिले में धारा 144 लागू होने की जानकारी देते हुए कहा कि यदि मंदिर पर साधु-संत आते हैं तो इसकी सूचना पुलिस को दें।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.