Move to Jagran APP

तमिलनाडु में फुटबालर प्रिया की हुई मौत, भाजपा प्रमुख ने तमिलनाडु के अस्पतालों की स्थिति पर उठाए सवाल

तमिलनाडु के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रमुख के अन्नामलाई ने डाक्टरों की कथित लापरवाही के कारण एक फुटबाल खिलाड़ी की मौत पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। इस दौरान उन्होंने राज्य में अस्पतालों की स्थिति पर सवाल उठाया है।

By AgencyEdited By: Versha SinghWed, 16 Nov 2022 12:56 PM (IST)
भाजपा प्रमुख ने तमिलनाडु के अस्पतालों की स्थिति पर उठाए सवाल

चेन्नई (तमिलनाडु), एजेंसी। तमिलनाडु के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रमुख के अन्नामलाई ने डाक्टरों की कथित लापरवाही के कारण एक फुटबाल खिलाड़ी प्रिया की मौत पर प्रतिक्रिया दी है और राज्य में अस्पतालों की स्थिति पर सवाल उठाया है।

के अन्नामलाई ने मंगलवार को अपने आधिकारिक बयान में कहा कि फुटबालर प्रिया की मौत चौंकाने वाली और दर्दनाक है। उन्होंने कहा कि डाक्टरों को निलंबित कर दिया गया है और सवाल किया कि "क्या गलत हुआ?"

यह भी पढ़ें- कठुआ दुष्कर्म मामला: आरोपी शुभम सांगरा नाबालिग नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के आदेश को किया रद

उन्होंने अपने बयान में कहा, क्या अस्पताल में सर्जरी की सभी सुविधाएं हैं? क्या गलत हुआ है? क्या अस्पताल में आवश्यक दवाएं हैं? यदि मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र के अस्पतालों की यह स्थिति है, तो तमिलनाडु के अन्य गाँवों के बारे में क्या हाल है? इन सभी सवालों का जवाब तमिलनाडु सरकार को देना होगा।

उन्होंने पार्टी की ओर से मृतक प्रिया के परिवार को अनुग्रह राशि देने की भी मांग की। उन्होंने कहा, भाजपा की ओर से हम मांग करते हैं कि सरकार प्रिया के परिवार को 2 करोड़ रुपए की अनुग्रह राशि दे।

बता दें कि उनकी टिप्पणी तब आई, जब उन्होंने तमिलनाडु के एक सरकारी अस्पताल में 17 वर्षीय फुटबाल खिलाड़ी प्रिया आर. की मौत पर अपनी प्रतिक्रिया दी। वहीं, मृतका के परिजनों ने डाक्टर की लापरवाही को उसकी मौत का कारण बताया है।

जानकारी के अनुसार, पेरियार नगर के सरकारी पेरिफेरल अस्पताल में चेन्नई की एक फुटबाल खिलाड़ी के घुटने (दाएं पैर) की सर्जरी हुई थी। उसके स्वास्थ्य में जटिलताओं के बाद उसे 8 नवंबर को चेन्नई के राजीव गांधी सरकारी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया था।

मेडिकल रिपोर्ट्स के मुताबिक, लीवर, हार्ट और किडनी की दिक्कतों के चलते फुटबालर प्रिया का मंगलवार सुबह निधन हो गया।

रिपोर्टों से पता चला कि पेरियार नगर अस्पताल की लापरवाही के कारण राजीव गांधी अस्पताल में प्रिया का पैर काटना पड़ा। इसमें आगे कहा गया कि प्रिया ने इलाज के बाद कोई खास रिस्पांस नहीं दिया जिसके बाद आज (मंगलवार) सुबह उसकी मौत हो गई।

शव मिलने के बाद फुटबालर के परिजनों ने इस मामले में पुलिस से तत्काल कार्रवाई की मांग को लेकर विरोध शुरू कर दिया है।

जिम्मेदार कथित डाक्टरों का तबादला कर उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है और पुलिस ने आरोपों के आधार पर मामले में प्राथमिकी भी दर्ज की है। हालांकि, पुलिस उपायुक्त ने कहा कि आगे की कार्रवाई केवल पोस्टमार्टम रिपोर्ट की जांच के बाद ही की जा सकती है, जो अभी तक प्राप्त नहीं हुई है।

डीसीपी चेन्नई अल्बर्ट जान ने मंगलवार को कहा, दो तरह की कार्रवाई होती है एक विभागीय होने के नाते डीन और स्वास्थ्य मंत्री द्वारा की गई है जिसमें कथित मामले के आरोपी डाक्टरों को स्थानांतरित और निलंबित कर दिया गया है और दूसरा आपराधिक अभियोग के आधार पर है जिसके लिए हमने प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की है।

यह भी पढ़ें- Andhra Pradesh: दवा बनाने वाली फैक्ट्री में जोरदार विस्फोट, शरीर में कांच के टुकड़े घुसने से 3 लोगों की मौत

डीसीपी ने आगे कहा, हमने आपराधिक संलिप्तता के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की है। पोस्टमार्टम हो चुका है और उसकी रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। हम यह भी देखेंगे कि डाक्टर की कमेटी की सिफारिश के बाद किन चार्जेज को और लगाने की जरूरत है।

गौरतलब है कि चिकित्सा शिक्षा निदेशक ने एक आधिकारिक बयान में बताया है कि हड्डी रोग विभाग के सहायक प्रोफेसर डा. पाल राम शंकर और पेरियार नगर के सरकारी पेरिफेरल अस्पताल के आकस्मिक चिकित्सा अधिकारी डा. के. सोमसुंदर को निलंबित कर दिया गया है।