नई दिल्ली, पीटीआइ। थलसेना और नौसेना ने शुक्रवार को अग्निपथ योजना के तहत अपनी भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी। वायुसेना ने 24 जून को इस योजना के तहत भर्ती प्रक्रिया शुरू की थी। 'वायुवीरों ' की भर्ती के लिए गुरुवार तक 2.72 लाख आवेदन प्राप्त हुए थे। रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को ट्वीट किया, 'अग्निवीर' के रूप में देश की सेवा करने के अपने सपने को पूरा करें।

अग्निपथ स्कीम के तहत 17.5 से लेकर 21 वर्ष के युवाओं की तीनों सेनाओं में भर्ती की जाएगी, लेकिन कोरोना के कारण अग्निवीरों की भर्ती के पहले साल उम्र सीमा में दो साल की छूट दी गई है और 23 साल तक के युवा आवेदन कर सकते हैं। अग्निवीर चार साल बाद जब सेना से बाहर आएगा तो उसे सेवा निधि के रूप में 11.71 लाख रुपये मिलेंगे।

चार साल बाद हर अग्निवीर बैच के 25 प्रतिशत लोगों को ही सेना में स्थायी नियुक्ति मिलेगी और इसके लिए उन्हें सेना की मानक प्रक्रियाओं की कसौटी पर खरा उतरना होगा। सेवानिवृत्त अग्निवीरों को केंद्रीय अर्धसैनिक बलों और रक्षा से संबंधित सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में वरीयता दी जाएगी। कई भाजपा शासित राज्यों ने भी घोषणा की है कि 'अग्निवीरों' को राज्य पुलिस बलों में शामिल करने में प्राथमिकता दी जाएगी।

नौसेना में अग्निवीर बनने के इच्छुक उम्मीदवार joinindiannavy.gov.in पर जाकर आनलाइन आवेदन कर सकते हैं। अग्निपथ योजना के तहत भारतीय नौसेना में अग्निवीर एसएसआर और अग्निवीर एमआर के पदों पर भर्ती होनी है। 12वीं पास उम्मीदवार अग्निवीर एसएसआर के लिए जबकि 10वीं पास युवा एमआर के लिए आवेदन कर सकते हैं। नौसेना की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक दोनों पदों के लिए अधिकतम आयु सीमा 23 वर्ष निर्धार‍ित की गई है। सनद रहे 23 वर्ष उम्र सीमा केवल इस वर्ष के लिए है। अगले साल से यह 21 वर्ष हो जाएगी।

इस बीच रक्षा मंत्रालय ने बताया है कि भारतीय वायु सेना को अग्निपथ भर्ती योजना के तहत रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू होने के एक सप्ताह के भीतर 2.72 लाख आवेदन प्राप्त हुए हैं। 24 जून से शुरू हुई पंजीकरण प्रक्रिया में सोमवार तक 94,281 आवेदन दाखिल किए गए थे। 14 जून को इस योजना की घोषणा होने के बाद इसके खिलाफ हिंसक विरोध प्रदर्शनों से कई राज्य लगभग एक सप्ताह तक प्रभावित रहे।

विभिन्न विपक्षी दलों ने इस योजना को वापस लेने की मांग की। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ए भारत भूषण बाबू ने ट्विटर पर कहा, अब तक 2,72,000 संभावित अग्निवीरों ने अपना आनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया है। इसमें उन्होंने वायु सेना में शामिल होने के लिए चयन प्रक्रिया से गुजरने का इरादा व्यक्त किया है।

रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि-पांच जुलाई, 2022 है। अग्निपथ योजना के तहत साढ़े 17 से 21 वर्ष की आयु के युवाओं को चार साल के कार्यकाल के लिए सेना में शामिल किया जाएगा। बाद में उनमें से 25 प्रतिशत को नियमित सेवा में शामिल कर लिया जाएगा। 16 जून को सरकार ने इस साल के लिए अभ्यर्थियों की ऊपरी आयु सीमा बढ़ाकर 23 साल कर दी थी। 

Agnipath Scheme Protest: अग्निपथ योजना को लेकर फैलाई जा रहीं कई अफवाह, जानिए- क्‍या है सच्‍चाई

Edited By: Krishna Bihari Singh