जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। अब आप अपनी सोसाइटियों और व्यवसायिक संस्थानों में तैनात निजी सुरक्षा गार्ड को लेकर निश्चिंत हो सकते हैं। अब निजी सुरक्षा गार्डो के रूप में तैनात जवानों की पृष्ठभूमि की जांच कंप्यूटर पर एक क्लिक से हो जाएगी। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इसके लिए विशेष पोर्टल जारी किया है। साथ ही अमित शाह ने निजी सुरक्षा गार्डो को जन-धन, सामाजिक सुरक्षा बीमा और अटल पेंशन जैसे योजनाओं के दायरे में लाया जाना चाहिए।

अमित शाह के अनुसार सुरक्षा गार्डो के पृष्ठभूमि की जांच अभी तक सबसे बड़ी समस्या बनी हुई थी। पुलिस की ओर से पृष्ठभूमि की जांच में ज्यादातर औपचारिकता पूरी की जा रही थी। गौरतलब है कि निजी सुरक्षा गार्डो की भर्ती करने वाली सभी एजेंसियों के लिए गार्डो की पुलिस जांच कराना अनिवार्य है। शाह ने कहा नए पोर्टल के आने के बाद उनकी पृष्ठभूमि की जांच आसानी से की जा सकेगी।

90 फीसदी से अधिक थाने ऑनलाइन

उन्होंने कहा कि इस समय देश 90 फीसदी से अधिक थाने ऑनलाइन जुड़ चुके हैं और इनमें दर्ज मामलों और उसके आरोपियों की जानकारी कंप्यूटर पर एक क्लिक से हासिल की जा सकती है। उनके अनुसार पृष्ठभूमि की जांच की पुख्ता प्रणाली के आने से सुरक्षा गार्डो पर लोगों का भरोसा बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि 90 दिनों के भीतर यह पोर्टल सभी भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होगा।

सुरक्षा की पहली पंक्ति

निजी सुरक्षा गार्डो को सुरक्षा की पहली पंक्ति बताते हुए अमित शाह ने देश में सुरक्षा का माहौल देने में उनकी योगदान की तारीफ की। उन्होंने कहा कि निजी सुरक्षा बलों और स्थानीय पुलिस के बीच बेहतर तालमेल का माहौल बनाने की जरूरत पर बल दिया।

एनसीसी कैडेट को भी कर सकते हैं शामिल 

शाह ने कहा कि देश में बड़ी संख्या में सेवानिवृत सुरक्षा बल के जवान निजी सुरक्षा एजेंसियों के लिए एक प्रशिक्षित बल के रूप में मौजूद हैं। यही नहीं, एजेंसियां एनसीसी के कैडेट को भी इसमें शामिल कर सकती है। अमित शाह ने सुरक्षा गार्डो को भी प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किये गए सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के दायरे में लाने की जरूरत बताई और इसके लिए निजी सुरक्षा एजेंसियों को काम करने को कहा।

इस पोर्टल के माध्यम से आम जनता भी यह पता लगा सकेंगी कि सुरक्षा गार्ड मुहैया कराने वाली निजी एजेंसी को लाइसेंस प्राप्त है या नहीं। अमित शाह ने कहा कि निजी सुरक्षा एजेंसियां के लिए लाइसेंस की प्रक्रिया को भी आसान बनाया जा रहा है।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस