नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। Israel Ambassador Hindi Speech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) की मदद से लोग आजकल किसी भी काम को बड़ी आसानी से कर लेते हैं। चाहे किसी प्रश्न का उत्तर ढूंढना हो या कोई प्रोजेक्ट बनाना हो हर काम इस कृत्रिम बुद्धि (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस या एआई) की मदद से काफी आसानी से हो जाता है। इस एआई का कैसे और बेहतर उपयोग किया जा सकता है, इसका उदाहरण इजराइल के राजदूत ने हिंदी भाषा में भाषण देकर पेश किया है। 

अब किसी भी भाषा में भाषण देना हुआ आसान

इजरायल के विदेश मंत्रालय में डिजिटल डिप्लोमेसी ब्यूरो के प्रमुख राजदूत डेविड सारंगा ने हिंदी में दिए भाषण का एक वीडियो साझा किया है। इस वीडियो में बताया गया है कि कैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) ने विभिन्न भाषाओं में संचार को आसान बना दिया है। वीडियो में राजदूत हिंदी में बोलते हुए देखे जा सकते हैं।

राजदूत बोले- हमेशा से हिंदी में बात करना चाहता था

इजराइली आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से हिंदी में डब किए गए वीडियो में डेविड सारंगा ने कहा मैं हमेशा से लोगों से हिंदी भाषा में संवाद करना चाहता था, लेकिन मैं अब इस तकनीक की मदद से कामयाब हुआ हूं। उन्होंने बताया कि इस एआई की मदद से वे अब कई भाषाओं में अपनी बात रख सकते हैं।

भारतीय दूतावास बोला- हम आश्चर्य में..

इज़राइल ने इसे अपना "अगला एआई नवाचार" करार दिया और उपयोगकर्ताओं से पूछा कि वे किस भाषा में ऐसे वीडियो को बनाने का प्रयास करना चाहेंगे। बता दें कि यह हिंदी वीडियो एक यूजर के अनुरोध के जवाब में बनाया गया था। इजराइल ने इसी के साथ भारतीय दूतावास को टैग कर पूछा भी कि क्या उनका हिंदी अनुवाद कैसा लगा। इजराइल में भारतीय दूतावास ने इसका जवाब भी दिया, उन्होंने कहा "हम आश्चर्य में थे।"

ChatGPT नहीं, इसकी मदद से बनाया वीडियो

राजदूत ने इसी के साथ बताया कि हर कोई ChatGPT के बारे में बात कर रहा है, लेकिन हमने आधिकारिक तौर पर अपना अगला एआई बनाया है। यह एआई इजराइली कंपनी D_ID_ बनाया है। बता दें कि ChatGPT एक नया AI चैटबॉट है जो आजकल काफी ट्रेंड में है। इस एआई का उपयोग लोग स्टीक उत्तर पाने के लिए करते हैं। बच्चे इससे अपना होमवर्क तक करवाने लगे हैं।

Edited By: Mahen Khanna

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट