नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। World Samskrit Day 2020: जहां एक ओर नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की घोषणा दो दिन पूर्व ही गयी है, वहीं इसके बाद विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने इस दिशा में कार्य करना भी शुरु कर दिया है। यूजीसी सचिव रजनीश जैन की तरफ से देश भर के विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों को कल 30 जुलाई 2020 को लिखे गये पत्र में अपील की गयी है कि सभी विश्वविद्यालयों में विश्व संस्कृत दिवस को मनाये जाने के लिए कार्यक्रम आयोजित किये जाएं। इस वर्ष विश्व संस्कृत दिवस 3 अगस्त 2020 यानि रक्षा बंधन के दिन मनाया जाएगा।

यूजीसी के पत्र में कहा गया है कि संस्कृत विश्वविद्यालयों के समूह ने विश्व संस्कृत दिवस को 31 जुलाई से 6 अगस्त 2020 तक ‘संस्कृत सप्ताह समारोह’ के तौर मनाने का निर्णय लिया है। इसी क्रम में यूजीसी ने देश भर के अन्य विश्वविद्यालयों को भी विश्व संस्कृत दिवस से सम्बन्धित आयोजन करने को कहा है। संस्कृत विश्वविद्यालयों के समूह ने देश भर के अन्य विश्वविद्यालयों से ‘संस्कृत सप्ताह समारोह’ को भी मनाने का अनुरोध किया है।

विश्व संस्कृत दिवस के लिए यूजीसी पत्र की कॉपी यहां देखें

संस्कृत सप्ताह समारोह

विश्व संस्कृत दिवस को मनाने के लिए संस्कृत सप्ताह समारोह के दौरान विभिन्न कार्यक्रम और प्रतियोगिताओं का आयोजन पूरे सप्ताह में ऑनलाइन मोड में किया जाएगा। समारोहों आयोजन ऑनलाइन मोड में कोविड-19 महामारी के मद्देनजर किया जाएगा। इन कार्यक्रमों में आचार्य स्तर यानि एमए और शास्त्री स्तर यानि बीए के छात्रों के लिए कहानियां का वाचन, गीत स्पर्धा और कविता पाठ संस्कृत में किया जाना है।

विश्व संस्कृत दिवस मनाने की 1969 में की गयी थी घोषणा

भारत सरकार ने रक्षा बंधन यानि कि श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन विश्व संस्कृत दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा 1969 में की थी। संस्कृत से जुड़े संगठन द्वारा संस्कृत भारती विश्व संस्कृत दिवस के मनाये जाने को प्रोत्साहित किया जाता रहा है।

Posted By: Rishi Sonwal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस