नई दिल्ली, एजुकेशन डेस्क। UPTET 2021: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 की तैयारी में जुटे उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण अलर्ट। उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा महामारी के बीच 21 लाख अभ्यर्थियों वाली पात्रता परीक्षा के नकल विहीन, पारदर्शिता और कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आयोजन के लिए निर्देश 17 जनवरी 2022 को दिए गए थे। इसी क्रम में, सीएम ने यूपीटीईटी 2021 के महामारी के बीच आयोजन को लेकर एक और महत्वपूर्ण घोषणा की है। मुख्यमंत्री द्वारा फिर 20 जनवरी 2022 को दिए गए निर्देशों को अनुसार ऐसे उम्मीदवार जो कि कोविड-19 पॉजिटिव होते हैं और परीक्षा देना चाहते हैं, तो उन्हें भी परीक्षा में सम्मिलित होने का अवसर दिया जाएगा।

यूपीटीईटी 2021 में कोविड-19 पॉजिटिव उम्मीदवारों को लेकर सीएम ने निर्देश जारी करते हुए कहा, “23 जनवरी को शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) के व्यवस्थित आयोजन के लिए सभी तैयारियों की परख कर ली जाए। यदि कोई कोविड पॉजिटिव अभ्यर्थी परीक्षा देने का इच्छुक है तो उसके लिए पृथक कक्ष की व्यवस्था दी जाए।” इसके साथ ही, मुख्यमंत्री ने एग्जाम अथॉरिटी को निर्देश दिए कि हर परीक्षा केंद्र पर एक कोविड केयर सेंटर स्थापित किए जाएं।

यह भी पढ़ें - UPTET: 21 लाख उम्मीदवारों के लिए 23 जनवरी को ही होगी परीक्षा, CM ने दिए एग्जाम अथॉरिटी को ये निर्देश

बता दें कि यूपीटीईटी 2021 के आयोजन को कुछ केंद्रों पर पेपर लीक के मामलों के चलते स्थगित कर दिया गया था। इसके बाद परीक्षा के लिए संशोधित कार्यक्रम की घोषणा की गयी, जिसके मुताबिक परीक्षा का आयोजन 23 जनवरी को होना है।

यूपीटीईटी 2021 परीक्षा में अनियमितता पर इन लोगों की होगी जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री ने यूपीटीईटी 2021 परीक्षा में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को एक बार सख्त निर्देश दिए। “शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) की शुचिता के दृष्टिगत सुरक्षा संबंधी सभी आवश्यक बंदोबस्त किए जाएं। पर्चा लीक जैसी घटना कतई स्वीकार्य नहीं होगी। किसी अव्यवस्था या अप्रिय घटना के लिए संबंधित DM, BSA, परीक्षा केंद्र प्रभारी, सभी की जिम्मेदारी तय होगी,” सीएम ने कहा।

Edited By: Rishi Sonwal