कहते हैं सपने सबसे पहले एक बीज के रूप में ईश्वर के हृदय में जन्म लेते हैं। फिर ईश्वर अपने इस बीज को साकार रूप प्रदान करने के लिए ऐसे व्यक्ति की तलाश करता है, जो इस सपने को पहचाने उसमें समाहित प्रभू की इच्छा को जाने और उसे एक कर्मठ किसान की तरह अंकुरित होकर विशाल वृक्ष के रूप में परिवर्तित होने की प्रक्रिया में अपने आपको समर्पित कर दे। ऐसे व्यक्ति के मिलते ही ईश्वर उस बीज को उस व्यक्ति के मन में प्रतिरोपित कर देता है और फिर निश्चिंत होकर नए सपनों के बीज तैयार करता है, नए व्यक्तियों को तलाशता है। ऐसी ही शख्सियत हैं हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एंड टूरिज्म (Heritage Institute of Hotel and Tourism) आगरा, के संस्थापक और प्रबंध निदेशक DK Singh जिनके दूरदृष्टि एवं सतत प्रयास से वर्ष 2006 में स्थापित हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एंड टूरिज्म को भारत का सबसे बडा होटल मैनेजमेंट संस्थान होने का गौरव प्राप्त है, जिसे राष्ट्रीय होटल प्रबंध एवं केटरिंग टेक्नोलॉजी परिषद (पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार) द्वारा डिग्री कोर्स हेतु मान्यता प्राप्त है। हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एंड टूरिज्म के संस्थापक और प्रबंध निदेशक DK Singh ने संस्थान के कई महत्वपूर्ण पहलुओं पर प्रकाश डाला जो इस प्रकार है -

क्या होटल मैनेजमेंट में करियर बनाना बेहद मुश्किल है?

नहीं, इसके लिए अन्य व्यवसायों की तरह समर्पण, ईमानदारी एवं मेहनत की आवश्यकता होती है। साथ ही आतिथ्य भाव के द्वारा सफलता के उच्चतम शिखर पर पहुंचा जा सकता है।

संस्थान के विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास के लिए क्या प्रयास किये जाते है?

जैसा कि हम सभी जानते है कि होटल मैनेजमेंट के क्षेत्र में सफल होने के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है सम्पूर्ण व्यक्तित्व विकास होना। यहाँ उच्च श्रेणी की शिक्षा के साथ साथ विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास पर विशेष जोर दिया जाता है। इसके लिए खेल-कूद एवं एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज पर ध्यान दिया जाता है। व्यक्तित्व विकास के लिए इंग्लिश कम्युनिकेशन,व्यक्तित्व विकास एवं ग्रूमिंग का भी प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके अलावा सभी प्रकार की गतिविधियों में छात्रों को अपना हुनर दिखाने का मौका एंव इसके लिए प्रेरित किया जाता हैं।

छात्रों के प्रति आपकी भूमिकाएं और जिम्मेदारियां क्या हैं?

‘‘बेहतर प्रशिक्षण और उज्जवल भविष्य के लिए प्रेरणा‘‘

उनके उज्जवल भविष्य को ध्यान में रखते हुए, हमारी पूरी टीम हमारे छात्रों को एक गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान करने की दिशा में काम कर रही है, ताकि वे पेशेवर दुनिया में नायाब खड़े हो सकें। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हम उन्हें सब कुछ हासिल करने के लिए प्रेरित करते हैं और प्रत्येक छात्र की विशेष क्षमता में विश्वास करते हैं। हम अपने छात्रों का सबसे अच्छा संस्करण बनने के लिए उनका पोषण करते हैं और उन्हें प्रशिक्षित करते हैं। हमारा फोकस प्रत्येक छात्र को व्यक्तिगत स्तर पर प्रोत्साहित एवं प्रशिक्षण कर करियर के प्रति सजग करने पर होता है।

छात्रों के बीच सकारात्मक संस्कृति का निर्माण कैसे करते हैं?

‘‘विविधता का जश्न मनाना और अवसर देना‘‘

विभिन्न कार्यों, गतिविधियों के माध्यम से और छात्रों के बीच बातचीत शुरू करके हम उन्हें एक दूसरे को स्वीकार करने के लिए सिखाने की कोशिश करते हैं और हम उन्हें यह सिखाने की कोशिश करते हैं कि विविधता का जश्न मनाया जाना चाहिए। इसके अलावा, नियमित पाठ्यक्रम, हम बहुत सारे भोजन और सांस्कृतिक उत्सव करते हैं, जिसके माध्यम से छात्रों को विभिन्न संस्कृतियों और जातियों के बारे में सीखने के अवसर मिलते हैं। उन्हें अपने क्षेत्र के मानक औद्योगिक लोगों के साथ संवाद करने और सकारात्मक बातचीत के प्रभावों को जानने का मौका मिलता है।

क्या होटल प्रबंधन क्षेत्र में तेजी आई है क्योंकि यह हाल के दिनों में रोजगार के ढेर सारे अवसर प्रदान कर रहा है?

जरूर, अभी बहुत सारे अवसर हैं। छात्रों द्वारा होटल मैनेजमेंट में अपना पाठ्यक्रम पूरा करने के तुरंत बाद, कई नियोक्ता छात्रों को उनके संबंधित संस्थानों में अच्छे पैकेज के साथ कर्मचारियों के रूप में नियुक्त करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं।

होटल मैनेजमेंट में कोर्स पूरा करने के बाद किस तरह की नौकरियां मिल सकती हैं?

होटल मैनेजमेंट के बाद छात्र अपनी व्यक्तिगत रूचि एवं पसंद से होटल उद्योग के विभिन्न क्षेत्रों मंश सफलतापूर्वक रोजगार प्राप्त कर सकता है। उदाहरण के लिए, कोई शेफ, फूड एंड बेवरेज सर्विस मैनेजर, हाउसकीपर, फ्रंट ऑफिस मैनेजर और कई अन्य के रूप में काम कर सकता है।

कोर्स पूरा करने के बाद क्या छात्र कैंपस प्लेसमेंट के जरिए नौकरी पाने का हकदार है?

हेरिटेज इन्स्टीट्यूट आफॅ होटल एन्ड टूरिज्म (Heritage Institute of Hotel and Tourism) के संस्थापक और प्रबंध निदेशक होने के नाते, मैं अपने छात्रों के बढ़ते हुए विकास की कल्पना करता हूं। ट्रेनिंग और प्लेसमेंट सेल के जरिए ग्रोथ का पता लगाया जाता है। हम छात्रों के समूह को वर्गीकृत करते हैं और इंडस्ट्री की आवश्यकता के अनुसार ही शुरू से ही उनका पोषण करना शुरू कर देते हैं। मेरा इरादा इस प्रक्रिया को और मजबूती से मजबूत करने का है, क्योंकि HIHT आगरा अब बेहतर कौशल ज्ञान को प्रभावित करने का विकल्प चुन रहा है। उम्मीदवारों को उनकी रुचि के हिसाब से उन्हें उस योग्य बनाने का प्रयास किया जाता है। संस्थान में एक समर्पित प्रशिक्षण और प्लेसमेंट सेल है, जो उद्योग के साथ समन्वय करता है और छात्रों की योग्यता और क्षमता के आधार पर छात्रों को प्लेसमेंट में मदद करता है। होटल मैनेजमेंट कोर्स के पासआउट स्टूडेंट्स को सर्विस इंडस्टीज हाथों-हाथ ले रही है। स्टूडेंट्स को मिले अच्छे जॉब ऑफर्स की वजह से यह कोर्स स्टूडेंट्स में हॉट डिमांड में है। हेरिटेज इन्स्टीट्यूट ऑॅफ होटल एण्ड टूरिज्म, आगरा में हर वर्ष नवोदित युवा विभिन्न राज्यों से आकर होटल मैनेजमैंन्ट की पढ़ाई करते हैं। होटल मैनेजमेंट के लिए प्रैक्टिकल नॉलेज होना जरूरी है, इसलिए स्टूडेंट्स को कोर्स के दौरान प्रैक्टिकल नॉलेज के लिए निरंतर टेनिंग दी जाती है, ट्रेनिंग में अच्छी परफॉर्मेंस जॉब दिलाने में भी मददगार होती है। होटल में होने वाले तमाम तरह के काम की बारीकियों से रूबरू होने का मौका मिलता है। आज हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एंड टूरिज्म, आगरा के युवा स्टूडेंट्स अब हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में देश-विदेश में परचम लहरा रहे हैं और आगरा का नाम गौरवान्वित करने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं।

अगले कुछ वर्षों के लिए हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एंड टूरिज्म का क्या है लक्ष्य

अगले कुछ वर्षों में हम चाहते हैं कि हमारे संस्थान को विश्व स्तर के मंच पर पहचाना जाए। हम इस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, हालांकि इसमें कुछ साल लगेंगे। हमारे संस्थान का उद्देश्य विभिन्न देशों से आए विद्यार्थियों को आतिथ्य उद्योग के लिए उच्च प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें उनके लक्ष्य तक पहुचाना है। इसके लिए हम विदेशी संस्थानों के सहयोग से अपने पाठ्यक्रम को उच्च-गुणवत्ता की ओर लाने में अग्रसर हो रहे है, जिससे कि हमारे विद्यार्थियों को विश्व स्तरीय शिक्षा मिल सके।

इच्छुक छात्रों को सुझाव

‘‘फोकस, अखंडता, मानवता, नैतिकता‘‘

इच्छुक छात्र के लिए वास्तव में कुछ सुझाव हैं कि उन्हें अपने अध्ययन के प्रति ईमानदार होना चाहिए, क्योंकि इस स्ट्रीम में गुणवत्तापूर्ण समर्पण की आवश्यकता होती है। छात्रों को मेरा सुझाव है कि एक लक्ष्य निर्धारित करें और उसके लिए लगातार काम करना शुरू करें, क्योंकि इस दुनिया में कोई भी कड़ी मेहनत और समर्पण के साथ आगे नहीं बढ़ सकता है। यदि आप कर सकते हैं तो दूसरों की मदद करें, और बाहर की कठिन परिस्थितियों के कारण आपके आंतरिक मूल्य कभी कम नहीं होंगे। जीवन में शांतिपूर्ण सफलता के लिए अपने दृष्टिकोण में नैतिक बनें। तब उच्च स्तर तक बढ़ने और सामाजिक स्थिति हासिल करने का पूरा मौका मिलता है। ईमानदारी सबसे अच्छी नीति है।

Note - यह आर्टिकल ब्रांड डेस्‍क द्वारा लिखा गया है।

Edited By: Rishi Sonwal