नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। मार्केट की जब भी हम चर्चा करते हैं, तो हम Demat Account (डीमैट अकाउंट) के बारे में जरूर सुनते हैं। इसका मतलब क्या है और क्या निवेशकों को इसके बारे में जानना जरूरी है, इसके अलावा यह बैंक अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट से कैसे अलग है, आइए इसको आसान भाषा में समझते हैं।

यह तो हम सभी जानते हैं कि पैसे जमा करना हो या फिर पैसे की लेनेदेन करनी हो तो हमारे पास बैंक अकाउंट होना चाहिए। लेकिन जब आप शेयर मार्केट में कदम रखते हैं और शेयर की ट्रेड करते हैं तो वहां दो अकाउंट्स को खुलवाना आपके लिए अहम हो जाता है। पहला है ट्रेडिंग अकाउंट और दूसरा है डीमैट अकाउंट (Demat and Trading Account Online)।

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

डीमैट अकाउंट से पहले ट्रेडिंग अकाउंट को समझें

डीमैट अकाउंट को अच्छी तरह से समझने के लिए सबसे पहले जानते हैं कि ट्रेडिंग अकाउंट (Trading Account) क्या है। बता दें कि ट्रेडिंग अकाउंट एक इन्वेस्टमेंट अकाउंट है, जहां निवेशक अपने शेयरों या दूसरे सिक्योरिटीज की खरीद और बिक्री करता है। यह बैंक अकाउंट और डीमैट अकाउंट के बीच एक लिंक प्रदान करता है। अगर आप शेयर मार्केट (Share Market) में ट्रेड करना चाहते हैं तो इस अकाउंट को ओपन करना अनिवार्य है।

क्या है डीमैट अकाउंट

डीमैट "डीमैटरियलाइजेशन" का संक्षिप्त नाम है, जिसका अर्थ है फिजिकल शेयर्स और सिक्योरिटीज को इलेक्ट्रॉनिक रूप में परिवर्तित करना। इलेक्ट्रॉनिक रूप में अपने शेयर को एक जगह रखने या होल्ड करने के लिए डीमैट अकाउंट आवश्यक है। यह ठीक वैसे ही है जैसे आप अपने बैंक में पैसे को जमा करते हैं। डीमैट अकाउंट शेयरों और अन्य सिक्योरिटीज को खरीदने और बेचने के लिए त्वरित और सुरक्षित तरीके से सुविधा प्रदान करता है। इसे NSDL (National Security Depository Ltd) और CDSL (Central Depository of Securities India Ltd) मैनेज करते हैं।

डीमैट अकाउंट खुलवाने के फायदे

1. जब हमारे पास फिजिकल शेयर्स या बॉड्स होते हैं, तो उसके खोने डर ज्यादा होता है। इसके अलावा फ्रॉड भी होने की संभावना होती है। जब पेपरलेस ऑनलाइन डीमैट अकाउंट (Demat Account Online) की बात आती है, तो यह पूरी तरह से सुरक्षित है।

2. आप अपने डीमैट अकाउंट में रखे शेयर या सिक्योरिटीज पर बैंक लोन सकते हैं। इसके अलावा आप इस पर ब्याज भी कमा सकते हैं।

3. इसके जरिए आप अपने शेयर को आसानी से ट्रैक कर सकते हैं। आपको मैन्युअल रूप से रिकॉर्ड बनाए रखने की आवश्यकता नहीं है। आपके सभी डॉक्यूमेंट्स प्रत्येक निवेश के रिकॉर्ड के साथ सुरक्षित रहते हैं।

4. डीमैट अकाउंट खुलवाना एक कॉस्ट इफेक्टिव भी है और शेयर खरीदने या बेचने पर आपको इसके लिए ज्यादा चार्ज नहीं देना पड़ेगा। जैसे आप ट्रेडिंग ऐप 5 paisa पर बिना किसी समस्या के आसानी से अपना Free Demat Account खुलवा सकते हैं। यहां आप फिजिकल बांड्स के लिए जरूरी स्टैंप ड्यूटी और अन्य हैंडलिंग चार्ज जैसे खर्चों से बच सकते हैं। यहां आपको केवल ब्रोकरेज चार्ज देना पड़ेगा। इसके अलावा अगर आप 5paisa पर डिस्काउंट ब्रोकर चुनते हैं तो आप ज्यादा पैसे बचा सकते हैं।

5.डीमैट अकाउंट के होने पर आप जल्दी से अपने शेयर को बेच और खरीद सकते हैं। इसमें रखे शेयर आपके लिए शॉर्ट-टर्म लिक्विडिटी की तरह है, जिसे आप जल्दी से बेचकर पैसे में कनवर्ट कर सकते हैं। 5paisa पर ऑनलाइन डीमैट अकाउंट खुलवाकर आप इस तरह और भी कई फायदे ले सकते हैं।

अगर आप भी बाजार में निवेश करना चाहते हैं, तो 5paisa एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां इन्वेस्टिंग न तो सिर्फ ईजी पर रिवॉर्डिंग भी है। DJ2100 - Coupon Code के साथ बनाइये अपना Demat Account 5paisa.com पर और पाएं ऑफर्स का लाभ। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें- https://bit.ly/3b1BKeX

Note:- यह आर्टिकल ब्रांड डेस्क द्वारा लिखा गया है।

लेखक- शक्ति सिंह

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट