मुंबई, एएनआइ। एनसीपी (National Congress Party ) नेता सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narender Modi) और गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) पर निशाना साधते हुए कहा कि दोनों नेता नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) पर विपरीत बयान दे रहे हैं। सुले ने कहा कि भाजपा अर्थव्यवस्था चलाने में असमर्थ हैं क्योंकि उसने एनआरसी और सीएए के कारण देश में अशांति का माहौल पैदा कर दिया है। मुझे संदेह है कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री एक दूसरे से बात नहीं कर रहे हैं इसलिए विपरीत बयान दे रहे हैं। 

संसद में गृहमंत्री ने कहा था कि वह पूरे भारत में एनआरसी लागू करेंगे, जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अब कह रहे हैं कि ऐसा कुछ नहीं है। सुले ने कहा कि भारत की आर्थिक मंदी से दूसरे देश डरे हुए हैं कि वह भारत में निवेश करे या नहीं। 

एनसीपी नेता ने सीएए और एनआरसी के खिलाफअग्रीपाड़ा में महिलाओं द्वारा किये जा रहे विरोध प्रदर्शन में भी भाग लिया। महिला प्रदर्शनकारियों ने हाथ में तिरंगा और सीएए के विरोध करने वाले पोस्टर पकड़े हुए थे। उन्होंने 'इंकलाब जिंदाबाद' के नारे लगाये और और फैज अहमद की कविता 'हम देखेंगे' भी पढ़ी।

गौरतलब है किी छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने भी एनआरसी को लेकर कुछ इसी तरह का बयान दिया है। सीएम भूपेश बघेल ने शनिवार को इंडोर स्टेडियम में नगरीय निकाय के नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों का सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि लगता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के बीच मनमुटाव चल रहा है, जिससे देश पिस रहा है। अमित शाह का कहना है कि एनआरसी पूरे देश में लागू होगा जबकि पीएम मोदी कह रहे हैं कि एनआरसी लागू नहीं होगा। सवाल यह है कि झूठ कौन बोल रहा है और सच कौन। 

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस