MP Panchayat Election: खंडवा, जेएनएन। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत 121 ग्राम पंचायतों में मतदान के बाद हुई मतगणना से प्रत्याशी के बीच जीत हार के कयास लगना शुरू हो गए हैं। कई ग्राम पंचायतों में जीत का जश्न अधिकृत घोषणा से पहले ही मनाया जा रहा है। जबकि ग्राम पंचायत रामपुरा के रूझान अब तक सामने नहीं आए हैं।

मालूम हो कि जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण रूप से होने के बाद अब अधिकृत परिणामों का इंतजार है। हालांकि, मतगणना के बाद किसको कितने मत मिले, इसकी जानकारी पोलिंग बूंथ पर प्रत्याशियों के अभिकर्ताओं को दे दी गई थी।14 जुलाई को सरपंच, पंच, जिला पंचायत सदस्य, और जनपद पंचायत सदस्यों के चुनाव परिणामों की अधिकृत घोषणा होगी।

इस जानकारी के आधार पर ग्राम पंचायतों में सरंपच, पंच, जिला पंचायत सदस्य और जनपद पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों ने अपनी जीत सुनिश्चित मानते हुए जश्न मनाना भी शुरू कर दिया।

पंचायत चुनाव: महिलाओं का मतदान नौ प्रतिशत बढ़ा

वहीं, ग्वालियर पंचायत चुनाव में आठ साल बाद महिलाओं का नौ प्रतिशत बढ़ गया। पिछले पंचायत चुनाव में महिलाओं का प्रतिशत 69 प्रतिशत था जो अब बढ़कर 78 प्रतिशत हो गया। पंचायत चुनाव में कुल 80 प्रतिशत मतदान जिले में हुआ जो कि काफी अच्छा है। इससे पहले भी अस्सी प्रतिशत मतदान हो चुका है लेकिन इस बार मतदान का प्रतिशत देखकर अफसर भी हैरत में रहे। सुबह की पाली में महिला मतदाताओं ने सबसे ज्यादा मतदान किया। महिलाओं ने वोट डालने के बाद अपने रूटीन काम संभाले और दोपहर से पुरूष मतदाताओं की कतार ज्यादा नजर आई। यही कारण था कि अधिकतर मतदान केंद्रों पर टोकन बांटने पड़े।

मालूम हो कि कुल मतदान प्रतिशत तीन प्रतिशत जिले में बढ़ा है। इसका सबसे बड़ा कारण यह कि आठ साल बाद पंचायत चुनाव में वोट डालने का अवसर मिला ।इसके अलावा मतदाताओं की संख्या में भी इजाफा हुआ। इन कारणों से ही मतदान को लेकर भारी उत्साह देखने को मिला। वहीं हुकुमगढ़ केंद्र पर रात एक बजे तक मतगणना चली। मतदान केंद्र से आखिरी दल सुबह पांच बजे लौटा।

ग्वालियर उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि इस बार पंचायत चुनाव में अच्छा मतदान हुआ। केंद्रों पर मतदाताओं की भीड़ लगी रही और टोकन भी बड़ी संख्या में बंटे। घाटीगांव में दोबारा मतदान कराया जा रहा है। इसके अलावा सभी केंद्रों पर शांतिपूर्ण मतदान हुआ।  

Edited By: Priti Jha