उज्जैन, जेएनएन। ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर के नवविस्तारित क्षेत्र 'महाकाल लोक' में जिन खूबसूरत स्थानों की पहचान अब सरल हिंदी के शब्दों से होगी। उज्जैन स्मार्ट सिटी कंपनी ने सभी स्थानों के अंग्रेजी नाम हटाकर हिंदी नाम रख दिए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पिछले दौरे के दौरान इससे नाराजगी जताई थी। उन्होंने सभी स्थानों के नाम वैदिक आधार पर रखने के निर्देश दिए थे।

विजिटर फैसिलिटी सेंटर को मानसरोवर, मीड-वे जोन को मध्यांचल, कामर्शियल प्लाजा को त्रिवेणी मंडपम्, लोटस पांड को कमल सरोवर, नाइट गार्डन को सांध्य वाटिका, गजिबो क्षेत्रों को त्रिपथ मंडपम् व भैरव मंडपम्, डेक-1 को अवंतिका और डेक-2 को कनकश्रृंगा नाम दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने जताई थी नाराजगी

गौरतलब हो कि 'महाकाल लोक' में बने सभी स्थानों के नाम अंग्रेजी में रखे जाने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नाराजगी जताई थी। उन्होंने सभी स्थानों के नाम वैदिक आधार पर रखने के निर्देश दिए थे। उल्लेखनीय है कि गंगा अवतरण की मूर्ति के सामने बने विजिटर फैसिलिटी सेंटर (अब मानसरोवर) में श्रद्धालुओं के लिए विश्राम की सुविधाएं उपलब्ध हैं।

इन नामों से होगी अब पहचान

त्रिपुरासुर संहार की मूर्ति के समीप कामर्शियल प्लाजा (त्रिवेणी मंडपम्) में 18 दुकानें हैं, जिनमें से 10 पर हस्तनिर्मित कलात्मक सामग्री और आठ पर खानपान की चीजें मिला करेंगी। डेक 2 (अब कनकश्रृंगा) क्षेत्र के सामने रावण द्वारा पर्वत उठाने की मूर्ति स्थापित की गई है। त्रिपथ मंडपम् और भैरव मंडपम् में श्रद्धालुओं के बैठने की व्यवस्था है। नाइट गार्डन (अब संध्या वाटिका) में वासुकी नाग की कुंडली में बैठे योगी शिव की मूर्ति स्थापित हैं।

Edited By: Umesh Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट