खंडवा, डिजिटल डेस्क। मध्य प्रदेश के वन विभाग के तीन कर्मचारियों की रविवार दोपहर हुए खंडवा जिले में हुए दर्दनाक हादसे में मौत हो गई, जबकि एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया। हादसा, पिपलोद के निकट तब हुआ जब उनकी तेज रफ्तार कार असंतुलित होकर सड़क किनारे पेड़ से टकरा गई। प्रारंभि‍क जानकारी के अनुसार इस दुर्घटना में एक डिप्टी रेंजर सहित दो वनकर्मियों की मौके पर मौत हो गई है।

कार का अगला हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त

पुलिस अधीक्षक (एसपी) विवेक सिंह ने कहा कि यह घटना खंडवा जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर दूर पिपलोद थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुम्था गांव के पास हुई। बताया जाता है कि वन विभाग के तीन कर्मचारियों की मौत हो गई, जबकि कार का चालक घायल हो गया। कार की रफ्तार अधिक होने से टकराने के बाद इंजन बाहर गिर गया। वहीं कार का अगला हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ है । जानकारी के अनुसार वन कर्मचारी खंडवा जिले के हरसूद- छनेरा वन परिक्षेत्र क्षेत्र के हैं। वन मंत्री विजय शाह ने इस हादसे पर शोक व्यक्त किया है।

मृतकों में एक वन रेंजर और दो गार्ड शामिल

मुख्य वन संरक्षक आरके राय ने बताया कि मृतकों में एक वन रेंजर और दो गार्ड शामिल हैं। बताया जा रहा है कि सिंगाजी वन परिक्षेत्र के स्टाफ का वाहन नावरा जाते समय दुर्घटना ग्रस्त हो गया। चालक को पुलिस की मदद से घायल अवस्था में जिला चिकित्सालय भेजा है।

दुर्घटना में वन रक्षक सूर्यकांत मेहरा,जगदीश मारू, हिमांशु वर्मा की घटना स्थल पर मौत हो गई है। "घटना तब हुई जब वन कर्मचारी नेपानगर के नवरा रेंज में अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कार में यात्रा कर रहे थे। यह घटना तब हुई जब उनका वाहन एक गाय को बचाने के चक्कर में एक पेड़ से टकरा गया।

Edited By: Vijay Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट