नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना वायरस महामारी के बीच पर्यटकों के लिए बड़ी खुशखबरी है। ख़बरों की मानें तो अब आप देश में ही ग्लास स्काई वॉक का आनंद ले सकते हैं। इससे पहले ग्लास स्काई वॉक के लिए चीन जाना पड़ता था, लेकिन अब पर्यटक देश में ही स्काई ग्लास वॉक कर सकते हैं। चीन के हेबई प्रांत में एस्ट तैहांग ग्लास स्काई वॉक है। हालांकि, जिन लोगों को ऊंचाई से डर हैं। उन्हें ग्लास स्काई वॉक की अनुमति नहीं होगी। अगर आपको इसके बारे में नहीं पता है, तो आइए सब कुछ जानते हैं-

कहां है ग्लास स्काई वॉक

अगर आप एडवेंचर का मजा लेना चाहते हैं, तो आपको सिक्किम जाना पड़ेगा। यह पर्यटन स्थल सिक्किम राज्य के पेलिंग में स्थित है। पेलिंग स्थित ग्लास स्काई वॉक चेनरेजिग मूर्ति के सामने है। यह प्रतिमा 137 फीट ऊंची है। जबकि इस प्रतिमा का अनावरण 2018 में किया गया था। सिक्किम का यह ग्लास स्काई वॉक देश का पहला स्काई वॉक पर्यटन स्थल है। इस स्थान से चेनरेजिग मूर्ति, तीस्ता और रंगीत नदियों का दीदार हो सकता है।

कैसे कर सकते हैं ग्लास स्काई वॉक

ग्लास स्काई वॉक का समय सुबह 8 बजे से 5 बजे शाम तक है। पर्यटक इस समय के दौरान ग्लास स्काई वॉक कर सकते हैं। जबकि प्रति व्यक्ति टिकट शुल्क मात्र 50 रुपये हैं। यह स्थान पेलिंग से महज ढाई किलोमीटर दूर है। अगर किसी व्यक्ति को वर्टिगो यानी चक्कर आने की समस्या है अथवा ऊंचाई से डर लगता है, उन्हें जाने की अनुमति नहीं दी गई है। वहीं, अगर किसी व्यक्ति हृदय गति तेज चलती है, तो उस व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। ग्लास स्काई वॉक के दोनों ओर रेलिंग है। पर्यटक इस रेलिंग के सहारे अंतिम छोर तक जा सकते हैं। हालांकि, कोरोना काल में आपको गाइडलाइंस को पालन करना होगा। इसके लिए मास्क पहनना अनिवार्य है और शारीरिक दूरी का भी ख्याल रखना होगा।

Edited By: Umanath Singh