होटल्स में कस्टमर्स को कम्फर्टेबल फील कराने के लिए ऐसी बहुत सारी चीज़़ें अवेलेबल होती हैं जिनके बारे में उन्हें पता नहीं होता और न ही इसके बारे में पता करने का उन्हें ख्याल भी आता है। लेकिन बाद में चेकआउट के दौरान बिल देखने पर अलग-अलग कई सारे चार्जेज उसमें जुड़े होते हैं। जो कस्टमर का गुस्सा भड़काने के साथ ही बुरा एक्सपीरियंस साबित होते हैं। तो घूमने-फिरने जा रहे हों, बिजनेस ट्रिप या फिर किसी और काम से, ऑनलाइन होटल बुकिंग कराना या ऑफलाइन, इन जरूरी बातों की जानकारी पहले ही ले लें।

लेट चेक आउट

होटल में चेक-इन करने के दौरान ही स्टॉफ से इस बात की जानकारी ले लें कि कहीं अगर आपकी रिटर्निंग फ्लाइट लेट हो गई तो चेकआउट थोड़ा रूककर करना पॉसिबल है या नहीं। कई बार अगली बुकिंग की वजह से स्टॉफ मेंबर के लिए ऐसा करना आसान नहीं होता लेकिन आराम से बात करें और अगर इसके लिए कुछ पैसे देने पड़े तो इसमें बिल्कुल भी संकोच न करें।

होटल में रूम का व्यू 

होटल बुकिंग के दौरान रूम के व्यू की जानकारी भी लें। कई बार होटल के रूम तो कम्फर्टेबल होते हैं लेकिन आसपास खराब लोकेशन की वजह से धूल, बदबू तो कभी गंदगी की शिकायत बनी रहती है। होटल के रूम खासतौर से रिलैक्स करने के लिए होते हैं लेकिन अगर ऐसी प्रॉब्लम होती है तो ट्रिप के दौरान मूड खराब हो जाता है। बेहतर होगा पेमेंट से पहले एक बार रूम देख लें।

एक्स्ट्रा और हिडेन चार्जेज की जानकारी

कई बार होटल बुकिंग के दौरान एक्स्ट्रा चार्जेज़ जैसे सिटी टैक्स, वैट इन सब की जानकारी नहीं दी जाती लेकिन फाइनल पेमेंट के दौरान ये सारे चार्ज बिल में जोड़ दिए जाते हैं जिससे कई बार कस्टमर भड़क जाते हैं। इस सिचुएशन से बचने के लिए बेहतर होगा आप पहले ही होटल काउंटर पर इन चीज़ों की जानकारी ले लें। वाई-फाई, पार्किंग, न्यूज़पेपर, ब्रेकफास्ट और रूम में एंटरटेनमेंट के लिए अवेलेबल और इस्तेमाल की जाने वाली चीज़ें फ्री हैं या नहीं।

एक्स्ट्रा सुविधाएं

कई बार होटल्स में अपने स्पॉ, स्वीमिंग पूल, स्टीम रूम नहीं होते लेकिन आसपास अवेलेबल इन चीज़ों की जानकारी जरूर होती है लेकिन इसका ये मतलब बिल्कुल भी नहीं होता कि वहां इन चीज़ों का इस्तेमाल फ्री होगा। तो इसे पहले ही क्लीयर कर लें। इसके अलावा कई बार एयरपोर्ट से मिलने वाली कैब और शटल के भी एक्स्ट्रा चार्ज होते हैं।

रूम शोर-गुल से दूर हो

हर एक होटल की कोशिश होती है कि आप वहां से अच्छा एक्सपीरियंस लेकर जाएं। तो उनसे पहले ही कन्फर्म कर लें कि आप जिस रूम में रूकने वाले हैं वहां आसपास बहुत ज्यादा शोर-गुल, सीढ़ियों से लगा हुआ और सबसे जरूरी कनेक्टिंग दरवाजे तो नहीं क्योंकि इससे बहुत ज्यादा परेशानी होती है।

टॉयलेटरीज़ के जरूरी सामान

होटल्स में टॉयलेटरीज़ के लिए सभी जरूरी सामान जैसे साबुन, शैंपू, टूथब्रश, टिश्यू पेपर पहले से ही अवेलेबल होते हैं और जरूरत पड़ने पर एक्स्ट्रा भी मिल जाता है। जिसके लिए आपको अलग से पैसे नहीं देने पड़ते। तो अगर आप अपना टॉयलेटरी बैग कैरी करना भूल गए हैं या गलती से मिस हो गया है तो रिसेप्शन पर बता दें जिससे चेकिंग के दौरान आपको अपने रूम में ये सारी चीज़ें मिल जाएं।

एक्स्ट्रा बेड

कई बार रूम में एक्स्ट्रा बेड की जरूरत पड़ जाती है तो होटल्स में इसकी सुविधा है या नहीं। अगर उनके पास होती है तो बेहतर नहीं तो कई बार वो पैसे लेकर अवेलेबल करा देते हैं। इसके लिए भी पहले ही रिसेप्शन पर बातचीत कर लें।

 

Posted By: Priyanka Singh