दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना वायरस महामारी के बीच हवाई और रेल की विशेष सेवा अनवरत जारी है। इससे आम जनजीवन पर अनुकूल प्रभाव पड़ा है। इससे पहले लॉकडाउन में यात्रा के सभी माध्यम पूरी तरह से बंद थे। हालांकि, वंदे भारत मिशन लॉकडाउन में भी जारी था। इस मिशन के तहत विदेश में फंसे भारतियों को सकुशल वापस स्वदेश लाया जा रहा है।

अब वंदे भारत मिशन चौथे चरण में पहुंच गया है। इस मिशन में अब न केवल अंतरराष्ट्रीय बल्कि घरेलू विमान भी उड़ानें भर रही हैं। इसके बावजूद यात्री क्वारंटाइन को लेकर असमंजस में है कि क्या अब भी उन्हें क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा। इस बीच दिल्ली आने और यहां से जाने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटाइन के नए नियम बनाए गए हैं। अगर आपको नहीं पता है तो आइए जानते हैं-

अंतरराष्ट्रीय यात्रा के नए नियम

-वंदे भारत की उड़ान के माध्यम से दिल्ली हवाई अड्डे पर पहुंचने वाले और कोई कनेक्टिंग उड़ान नहीं लेने वाले यात्रियों को  हवाई अड्डे से बाहर निकलने के बाद सात दिनों तक क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा। इसके बाद, उन्हें अपने घर पर सात दिनों के लिए आइसोलेशन में रहना पड़ेगा।

-यदि यात्री वंदे भारत की उड़ान से आते हैं, और अपने राज्य सड़क के माध्यम से जाना चाहते हैं, तो दोनों नियमों का पालन करना होगा। इसका मतलब यह है कि आपको 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा।

-अगर यात्री वंदे भारत मिशन के अलावा किसी अन्य उड़ान और अन्य देश से दिल्ली हवाई अड्डे पहुंच रहे हैं और यात्री एयरपोर्ट से बाहर जाना चाहते हैं तो यात्री को सात दिनों तक क्वारंटाइन में रहना पड़ सकता है। इसके बाद घर पर भी सात दिनों तक क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा।

घरेलू यात्रा के नए नियम

-अगर यात्री देश के किसी अन्य राज्य से दिल्ली एयरपोर्ट पर आते हैं तो यात्री को सात दिनों तक क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा। अगर यात्री एयरपोर्ट से बाहर जाते हैं तो आपको घर पर सात दिनों तक क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा।

-अगर यात्री दिल्ली एयरपोर्ट होकर अन्य राज्य जा रहे हैं तो यात्री को गंतव्य राज्य के क्वारंटाइन नियमों का पालन करना होगा।

-अगर यात्री दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचते हैं और वंदे भारत मिशन के तहत बाहर जाना चाहते हैं तो यात्री को नए नियमों का पालन नहीं करना होगा। बशर्ते कि यात्री एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकल सकते हैं। 

Edited By: Umanath Singh