नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। राजस्थान ऐतिहासिक विरासत और धरोहर के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। विदेशी पर्यटकों के लिए राजस्थान पसंदीदा स्पॉट है। हजारों की संख्या में विदेशी पर्यटक राजस्थान घूमने आते हैं। हालांकि, कोरोना वायरस महामारी के चलते पर्यटकों की संख्या में कमी आई है। इसके बावजूद पर्यटकों की पहली पसंद राजस्थान है। काफी संख्या में लोग आवश्यक सावधानियां बरत कर राजस्थान घूमने आते हैं। अगर आप भी समर सीजन में वीकेंड हॉलिडे का प्लान कर रहे हैं, तो देवगढ़ जा सकते हैं। आइए, इस शहर की खासियत से रूबरू होते हैं-

देवगढ़ कहां है

राजस्थान के राजसमंद जिले में यह शहर स्थित है। मुंबई-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग-8 से इसकी दूरी 4 किलोमीटर है। देवगढ़ पहुंचने के लिए सबसे बेहतर सड़क मार्ग है। देवगढ़ से उदयपुर की दूरी 140 किलोमीटर है। साथ ही अजमेर और भीलवाड़ा निकटतम शहर है। पर्यटक फ्लाइट से उदयपुर पहुंच सकते हैं। इसके बाद सड़क मार्ग के माध्यम से देवगढ़ पहुंच सकते हैं।

देवगढ़ की खासियत

देवगढ़ में कई खूबसूरत मंदिर हैं। खासकर कुंजबिहारी मंदिर बेहद लोकप्रिय है। काफी संख्या में श्रद्धालु देव दर्शन हेतु आते हैं। साथ ही आंजनेश्वर मंदिर है। इस मंदिर में शिवलिंग स्थापित है। यह शिवलिंग गुफा में स्थित है। इसके अलावा, यहां नाथद्वार है, जो श्रीनाथजी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर की दूरी देवगढ़ से 90 किलोमीटर है। देवगढ़ से जयपुर की दूरी 150 किलोमीटर है।

इतिहासकारों की मानें तो शुरुआत के दिनों में देवगढ़ में रॉयल्स परिवार के लोग रहते थे। वर्तमान समय में रॉयल्स परिवार का अधिपत्य बरकरार है। इसके अलावा, महल के बाकी हिस्सों में एक लग्जरी होटल बनाया गया है। इस शहर से होकर मीटर गेज ट्रेन चलती है, जो देवगढ़ से मारवाड़ तक जाती है। यहां से मारवाड़ के मैदानों का अद्भुत नजारा ले सकते हैं। समर सीजन में वीकेंड हॉलिडे के लिए देवगढ़ यात्रा कर सकते हैं।

Edited By: Umanath Singh