नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना काल में हज पर जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए बड़ी खबर आ रही है। ख़बरों की मानें तो हज कमेटी ऑफ इंडिया ने मक्का-मदीना जाने वाले हज तीर्थयात्रियों के लिए कोरोना टीकाकरण अनिवार्य कर दिया है। आसान शब्दों में कहें तो हज यात्री को अब कोरोना की दोनों वैक्सीन लगानी होंगी। उसके बाद ही मक्का मदीना की यात्रा कर सकेंगे।

इस बारे में और अधिक जानकारी देते हुए हज कमेटी ऑफ इंडिया के मक़सूद अहमद ने कहा कि सऊदी अरब में भारतीय वाणिज्य दूतावास के नवीनतम निर्देशों के बाद यह फैसला लिया गया है। इसके आगे उन्होंने कहा कि हज यात्रा के लिए आवेदन करने वाले यात्रियों को खुद से वैक्सीन लेनी होंगी। हज यात्री सुनिश्चित कर लें कि मक्का-मदीना जाने से पहले दोनों वैक्सीन लगानी होंगी।

इससे पहले पिछले साल सऊदी अरब सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए विदेशी हज यात्रियों की एंट्री पर प्रतिबंध लगा दिया था। इसके चलते केवल स्थानीय नागरिक ही हज कर सके थे। इस साल हज यात्रा 17 जुलाई को शाम में शुरू होकर 22 जुलाई को शाम में समाप्त होगी। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के चलते संक्रमितों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। इसके चलते पर्टयन पर भी असर पड़ सकता है। फ़िलहाल हज यात्रा को लेकर अंतिम फैसला नहीं दिया गया है।

हज क्या होता है  

इस्लाम धर्म में हज यात्रा का विशेष महत्व है। हर साल के अंतिम महीने ज़िल हिज्जाह में हज यात्रा की जाती है। इस्लाम धर्म में स्त्री और पुरुष दोनों को जीवनकाल में एक बार हज यात्रा का विधान है। यह इस्लाम में एकता और विश्वास का प्रतीक है। इसके लिए दुनियाभर के मुस्लिम हज यात्रा के लिए सऊदी अरब पहुंचते हैं। वर्तमान समय में पवित्र महीना रमजान चल रहा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021