Move to Jagran APP

Workplace Etiquette: वर्क प्लेस पर सभी से बने रहेंगे अच्छे रिश्ते, अगर इन बातों का रखेंगे ख्याल

Workplace Etiquette ऑफिस एक जगह होती है जहां आप घर से ज्यादा समय बिताते हैं। काम के साथ आप कई दोस्त भी बनाते हैं। हालांकि ऑफिस में व्यवहार से जुड़े कुछ नियम हैं जो सभी को फॉलो करने चाहिए ताकि ऑफिस में मनमुटाव से बचें और आपका सम्मान भी बरकरार रहे। तो आइए जानते हैं कि हमें किन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

By Jagran NewsEdited By: Ruhee ParvezPublished: Sat, 26 Aug 2023 07:00 AM (IST)Updated: Sat, 26 Aug 2023 07:12 AM (IST)
वर्कप्लेस एटिकेट – कैसे बनाए रखें वर्क प्लेस पर सभी से अच्छे संबंध

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Workplace Etiquette: वर्कप्लेस यानी ऐसी जगह जहां आप घर के बाद सबसे अधिक समय बिताते हैं। यह ऐसी जगह होती है जहां से आपकी रोज़ी रोटी चलती है। ऐसी जगह पर सभी से सामंजस्य स्थापित करके काम करना एक मुश्किल काम हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि सभी लोग अलग-अलग परिवार और परिवेश के होते हैं। सभी की विचारधाराएं अलग होती हैं। सभी के मत और सोच में जमीन आसमान का अंतर भी हो सकता है। इसीलिए वर्कप्लेस में वर्कप्लेस एटिकेट का होना जरूरी है, जिससे आपसी संबंध खराब न हो और वर्कप्लेस में सुचारू रूप से सभी काम संपन्न हो सके।

loksabha election banner

तो आइए जानते हैं कि कैसे बनाएं रखें वर्कप्लेस एटिकेट्स जिससे बिना किसी मन मुटाव के आप शांत मन से अपना काम कर सकें:

बेसिक एटिकेट जरूर फॉलो करें

इनमें आता है थैंक यू, सॉरी, एक्सक्यूज मी, पार्डन आदि शब्दों का प्रयोग करना। ये सभी शब्द छोटे जरूर होते हैं लेकिन इनमें बड़ी ताकत होती है। ये आपको विनम्र बनाते हैं जिससे सामने वाला आपके प्रति सम्मान भाव रखेगा।

चुगली करने से बचें 

वर्कप्लेस पर आपका काम है काम करना और पैसे कमाना। ऐसी पवित्र जगह पर आप ऐसा कोई काम न करें जिससे रात में आपको सुकून की नींद भी न आए। इसमें चुगली करना या इधर की बातें उधर करना एक सबसे बड़ा गलत व्यवहार हो सकता है। ऐसा करके आप सभी की नज़रों में गिर जाएंगे। इसलिए अपने काम से मतलब रखें और इस तरह के काम न करें।

मदद करें

अपने काम से मतलब रखने का मतलब ये कतई नहीं है कि आप दूसरों से कट जाएं। दूसरों के प्रति कृतज्ञ भाव रखें और अगर किसी को भी आपकी ज़रूरत है तो इससे पीछे न हटें। आपको भी कभी किसी की मदद की जरूरत पड़ सकती है, इसलिए हमेशा कलीग की जरूरत पर खड़े रहें।

अच्छे श्रोता बनें

बहुत अधिक न बोलें। जितनी जरूरत हो उतना ही बोलें और दूसरों को सुनें। जब आप अच्छे श्रोता होते हैं और सबकी बात सुनने के बाद अपनी बात कम शब्दों में कहते हैं, तो आपकी बात को महत्व दिया जाता है और लोग आपको ध्यान से सुनते हैं और वर्कप्लेस में आपकी बातों को महत्व दिया जाता है।

मुस्कुरा कर मिलें, मधुर बोलें और रिस्पेक्ट दें

वर्कप्लेस एक ऐसी जगह होती है जहां काफी स्ट्रेस होता है। ऐसे में तेज़ आवाज़ और गुस्से भरा व्यवहार एक आम वातावरण होता है। आप इस वातावरण का हिस्सा न बनें। जब भी किसी से मिलें तो आंख में आंख डाल कर, आत्मविश्वास से भर कर एक मुस्कान के साथ, रेस्पेक्ट देते हुए बात करें। लोग आपसे बात करके प्रभावित रहेंगे।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.