मीटिंग में आपका पेशेवर व्यवहार वर्क प्लेस पर आपकी सकारात्मक छवि बनाता है। इसलिए ऑफिस मीटिंग अटेंड करते समय कुछ बातें ध्यान रखनी चाहिए। यहां जानिए वे बातें।

1. लेट पहुंचने पर इंप्रेशन खराब होता है इसलिए हमेशा मीटिंग शुरू होने से पांच मिनट पहले कॉन्फ्रेंस हॉल में पहुंचे।

किसी कारण से अगर मीटिंग में देर से पहुंच रहे हैं तो सॉरी कहकर चुपचाप अपनी सीट पर बैठ जाएं।

2. मीटिंग में जाने से पहले तैयारी करें। जो बातें आप कहना चाहते हैं, उनके नोट्स बनाएं। इससे महत्वपूर्ण बातें भूलेंगे नहीं। अगर किसी ताज़ातरीन मसले पर मीटिंग हो, तो उससे जुड़ी लेटेस्ट जानकारियां हासिल करें।

3. हमेशा संक्षेप और सरल भाषा में अपनी बात कहें। इससे ध्यान नहीं भटकेगा और हर कोई आपकी बात में रुचि लेगा।

4. आपकी बात खत्म होने के बाद अगर कोई सवाल पूछा जाए तो धैर्यपूर्वक जवाब दें। जवाब से अगर वहां उपस्थित लोग सहमत न हों तो बहस न करें।

5. मीटिंग में सभी तरह के बैकग्राउंड और वर्क प्रोफाइल के लोग होते हैं इसलिए जरूरी नहीं कि मीटिंग में उठे मुद्दों से सब कनेक्टेड महसूस करें। इसलिए अपने मन मुताबिक बिंदुओं पर चर्चा न होने पर परेशान न हों शांत रहें।

6. अगर बॉस या सीनियर की बात से सहमत न हो तो सबके सामने उनकी बात न काटें। मीटिंग के बाद अकेले में उनसे मिलें और उन्हें सकारात्मक डंग से अपनी बात समझाएं।

7. हमेशा अपनी बात कहते समय आई कॉन्टैक्ट बनाए रखें। आई कॉन्टैक्ट से आपका कॉन्फिडेंस झलकता है।

8. हमेशा अपना मोबाइल साइलेंट रखें, जिससे फोन की घंटी बजने से बाकी लोग डिस्टर्ब न हों।

9. अगर बहुत अर्जेंट न हो तो मीटिंग के बीच में फोन रिसीव न करें। अगर कोई अर्जेंट कॉल अटेंड करनी ही पड़े तो चुपचाप बाहर निकलकर बात करें।

10. मीटिंग की महत्वपूर्ण बातें हमेशा डायरी में नोट करें। इससे बाद में उन्हें याद करना आसान होगा।

11. कभी भी मीटिंग के दौरान अपने आसपास के लोगों से बात न करें। यह मीटिंग एटिकेट्स के खिलाफ है।

12. मीटिंग खत्म होने के बाद आभार व्यक्त करना न भूलें।

(करियर काउंसलर सुशील कुमार पारे से बातचीत पर आधारित)

Pic credit- Pixabay

Edited By: Priyanka Singh