प्रोफेशनल वर्ल्ड में ये बात को सुनी ही होगी कि नौकरी बदलते रहने से ग्रोथ और ज्यादा सैलरी मिलने की बहुत संभावनाएं होती हैं। देखिए नौकरी बदलना सही है जल्दबाजी में सिर्फ सैलरी देखकर जॉब ज्वॉइन करना सही नहीं। क्योंकि कई बार सैलरी तो अच्छी-खासी मिल जाती है लेकिन वर्क प्रेशर इतना ज्यादा होता है कि बाद में पछतावा होता है तो इस चीज़ से बचने के लिए जॉब बदलने से पहले जरा कुछ बातों पर गौर कर लें। 

हाल की जॉब से बेहतर है या नहीं?

इसका आंकलन सिर्फ पैसों के आधार पर न करें। बेशक पैसे जरूरी हैं लेकिन साथ ही साथ चैन और सुकून भी।  ऐसा जॉब ऑफर है जिसमें पैसों के साथ पोस्ट भी बढ़ रही है और प्रोफाइल भी वही है तो ज्वॉइन करने के बारे में सोच सकते हैं। लेकिन पैसों के अलावा बाकी दो चीज़ें नहीं मिल रही तो जरा एक बार विचार कर लें।

ऑफिस का माहौल सही हैॽ

ऐसा ऑफिस जहां सिफारिशें चलती हैं, लोग गुटबाजी करते हैं, काम का श्रेय नहीं दिया जाता, ऐसे ऑफिस को ज्वॉइन करने से पहले जरा सोच लें। हालांकि कई बातें ऑफिस ज्वॉइन करने के बाद ही पता लगती हैं लेकिन ऐसे वातावरण में अगर आप नेचर हार्ड वर्किंग और ईमानदार है तो एडजस्ट कर पाना बड़ा मुश्किल हो जाएगा।

हेल्थ इश्यूज तो नहीं?

हां, अगर आपकी हालिया नौकरी बहुत तनावपूर्ण है, काम के घंटे निर्धारित नहीं, सैलरी वक्त पर नहीं आती, बहुत ज्यादा ट्रैवलिंग करनी पड़ती है, नाइट शिफ्ट भी लगती है और कुछ भी काम थमा दिया जाता है जो आपके प्रोफाइल से मैच भी नहीं करता तो ऐसे में जॉब बदलना ही उचित निर्णय होता है। 

मजबूरी में कर रहे हैं नौकरी?

मतलब आपका प्रोफाइल है कुछ और लेकिन पैसों के खातिर आपने तब कुछ ज्वॉइन कर लिया था तो नई नौकरी ऐसी ही पकड़े जो आपके प्रोफाइल वाली हो। इससे काम में मन भी लगता है और वो बेहतर तरीके से पूरा हो पाता है।

 

Edited By: Priyanka Singh