नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Vitiligo: साउथ फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर अभिनेत्री ममता मोहनदास ने बीते दिनों खुलासा किया कि वह ऑटोइम्यून बीमारी विटिलिगो से पीड़ित हैं। एक्ट्रेस ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए फैंस के साथ यह जानकारी साझा की। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि फिलहाल उनका इलाज चल रहा है। मलयालम, तमिल, तेलुगू, और कन्नड़ भाषा की कई फिल्मों में नजर आ चुकी 38 वर्षीय ममता को दो बार कैंसर को भी मात दे चुकी हैं। हालांकि, साल 2023 की शुरुआत में उन्हें विटिलिगो से पीड़ित होने की जानकारी मिली। एक्ट्रेस के इस खुलासे के बाद से ही हर कोई विटिलिगो को लेकर अलग-अलग तरह के सवाल कर रहा है। तो चलिए जानते हैं क्या है यह बीमारी, इसके लक्षण, कारण और बचाव के तरीके-

क्या है विटिलिगो

विटिलिगो एक तरह का स्किन डिसऑर्डर है, जिसे आम भाषा में सफेद दाग भी कहा जाता है। इस बीमारी की वजह से त्वचा अलग-अलग हिस्सों से अपना रंग खोने लगती है। इसकी वजह से शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर सफेद रंग के धब्बे पड़ने लगते हैं। हालांकि, इन धब्बों को लेकर यह बताना मुश्किल होता है कि शरीर पर पड़े ये सफेद दाग फैलेंगे या नहीं।

विटिलिगो के लक्षण

विटिलिगो का एकमात्र लक्षण शरीर पर धब्बे पड़ना है। सपाट दिखने वाले यह धब्बे शुरुआत में हल्के पीले रंग के नजर आते हैं और फिर बाद में समय के साथ इन दागों का रंग सफेद होता चला जाता है। इन धब्बों का आकार आमतौर पर अनियमित होता है। विटिलिगो की वजह से शरीर में होने वाले इन धब्बों के कारण त्वचा पर किसी भी तरह की जलन, दर्द, रूखेपन या अन्य परेशानी नहीं होती है। हालांकि, दाग वाले हिस्से पर खुजली होना सामान्य है।

विटिलिगो के कारण

विटिलिगो का प्रमुख कारण मेलेनोसाइट्स नामक कोशिकाओं का नष्ट होना है। यह कोशिकाएं हमारी त्वचा को प्राकृतिक रंग देने का काम करती हैं, लेकिन जब यह अपना काम करना बंद कर दें, तो त्वचा रंग बदलने लगती है, जिसकी वजह से सफेद दाग होने लगते हैं। विटिलिगो के अन्य प्रमुख कारण निम्न हैं-

  • अगर परिवार में किसी को यह बीमारी है, जो विटिलिगो होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • शरीर के इम्यून सिस्टम का मेलानोसाइट्स पर हमला कर उन्हें खत्म करना भी विटिलिगो का कारण है।
  • जब शरीर में ऑक्सीजन अणुओं और एंटीऑक्सीडेंट का संतुलन बिगड़ जाता है, तो विटिलिगो हो सकता है।
  • इमोशनल स्टेर्स, सनबर्न या किसी केमिकल के कारण की वजह से भी त्वचा पर सफेद धब्बे नजर आने लगते हैं।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Picture Courtesy: Instagram

Edited By: Harshita Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट