Move to Jagran APP

सेहत बिगाड़ भी सकते हैं विटामिंस सप्लीमेंट्स, जानें इसके संभावित खतरे

दिल्ली के एकेडमी आफ फैमिली फिजीशियंस आफ इंडिया के अध्यक्ष डा. रमन कुमार ने बताया कि शरीर में विटामिंस व मिनरल्स का संतुलित होना जरूरी है लेकिन बिना चिकित्सकीय सलाह के कोई इनका सेवन करता है तो नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है..

By Sanjay PokhriyalEdited By: Published: Mon, 18 Jul 2022 03:14 PM (IST)Updated: Mon, 18 Jul 2022 03:14 PM (IST)
आयरन के सप्लीमेंट्स का सेवन दूध, काफी के साथ न करें

नई दिल्ली, फीचर डेस्क। मल्टीविटामिंस और मिनरल्स का सेवन पिछले कुछ वर्षों में बहुत बढ़ा है। लोगों में धारणा है कि मल्टीविटामिंस हमें स्वस्थ रखते हैं साथ ही गंभीर बीमारियों से बचाते हैं। मल्टीविटामिंस में विभिन्न तरह के विटामिंस होते हैं और ये बाजार में गोलियों, कैप्सूल, पाउडर और लिक्विड के रूप में उपलब्ध हैं। यह सही है कि स्वस्थ्य रहने के लिए शरीर को विटामिंस और मिनरल्स की एक निश्चित जरूरत होती है, लेकिन बिना चिकित्सकीय सलाह के इनका सेवन सेहत बिगाड़ देता है।

लोग शरीर में कमजोरी महसूस होने या खुद को फिट रखने के लिए बिना चिकित्सकीय सलाह के विटामिन या मिनरल सप्लीमेंट्स लेना शुरू कर देते हैं। एक अवधि के बाद इनका सेवन स्वास्थ्य को प्रभावित करने लगता है। विटामिंस के अधिक सेवन से हाइपरविटामिनोसिस या विटामिन प्वायजनिंग हो जाती है।

शरीर पर पड़ता है नकारात्मक प्रभाव: अधिक सेवन करने से शरीर को उन विटामिंस की अतिरिक्त खुराक मिल जाती है, जिनकी आवश्यकता नहीं होती है। बाजार में मल्टीविटामिंस के ऐसे सप्लीमेंट्स उपलब्ध हैं, जिनमें विभिन्न विटामिंस की मात्रा निर्धारित सीमा से अधिक होती है। अल्फा टोकोफेराल (विटामिन ई का एक रूप) से ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। विटामिन ई के दूसरे सप्लीमेंट्स प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ा देते हैं और विटामिन सी के सप्लीमेंट्स अधिक लेने से पाचनतंत्र संबंधी समस्याएं हो जाती हैं।

आयरन और कैल्शियम: रक्त में आयरन के स्तर को बनाए रखने के लिए आयरन सप्लीमेंट्स लिए जाते हैं, लेकिन यह चिकित्सक ही सुनिश्चित करते हैं कि आपको आयरन की जरूरत है या नहीं। शरीर में आयरन की अधिक मात्रा होने पर हार्ट अटैक व लिवर से संबंधित रोगों की आशंका बढ़ती है।

इसी तरह कैल्शियम के सप्लीमेंट्स काफी प्रचलित हैं, लेकिन खुद से इसका अधिक सेवन पथरी बनने की आशंका को कई गुना बढ़ा देता है। कैल्शियम सप्लीमेंट्स का हाई डोज हृदय की सेहत भी खराब करता है। आयरन के सप्लीमेंट्स को खाना खाने के बाद ही लें, लेकिन इनका सेवन कभी भी दूध और दुग्ध उत्पादों, जैसे चाय, काफी के साथ न करें। कैल्शियम सप्लीमेंट्स को आयरन सप्लीमेंट्स के साथ लेने से ड्रग इंटरएक्शन का खतरा रहता है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.