नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Benefits Of Peach: साल में मई और जून ऐसे महीने हैं, इस दौरान गर्मी अपने चरम पर होती है। इस वक्त देश के ज़्यादातर राज्य भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं। इसमें कोई शक़ नहीं कि गर्मी सभी को परेशान कर देती है, लेकिन इस मौसम की कुछ अच्छी बातें भी हैं, जैसे कि इस समय आने वाले फल। आम, लीची, तरबूज़, खरबूज़ा, पपीता जैसे फल चिलचिलाती गर्मी से हमें राहत पहुंचाने का काम करते हैं।

इसके अलावा एक फल और है, जो इस मौसम में रिफ्रेशिंग लगता है और वह है पीच यानी आडू। अप्रैल और मई के महीने में आने वाला आडू स्वाद में मीठा, रस से भरा और हल्का सा खट्टा होता है। इस फल के अंदर बादाम जैसा बीज भी होता है।

आडू न सिर्फ खाने में मज़ेदार होते हैं बल्कि रिफ्रेशिंग भी, साथ ही यह दिल की सेहत, इम्यूनिटी और ऊर्जा स्तर के लिए भी बेहतरीन साबित होते हैं। कई शोध में पाया गया है कि आडू का सेवन LDL यानी ख़राब कोलेस्ट्रोल और ब्लड प्रेशर के स्तर को कम कर सकता है। हंगरी में आडू को "फ्रूट ऑफ कामनेस" यानी शांति देने वाला फल कहा जाता है, क्योंकि वे तनाव को दूर करने और आपको शांत करने के लिए जाने जाते हैं।

आडू खाने के फायदे

पाचन में सहायता कर सकता है

आड़ू प्राकृतिक आहार फाइबर का एक समृद्ध स्रोत होने के कारण भूख को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके अलावा, वे आंतों के माध्यम से संसाधित और असंसाधित खाद्य कणों की आवाजाही की सुविधा प्रदान करते हैं, कब्ज़ से बचाते हैं।

एलर्जी के लक्षणों को कम कर सकता है

जब आपका शरीर एक एलर्जेन के संपर्क में आता है, तो यह आपके शरीर को एलर्जेन से छुटकारा दिलाने में मदद करने के लिए आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली द्वारा बनाए गए हिस्टामाइन या रसायनों को छोड़ता है। हिस्टामाइन आपके शरीर की रक्षा प्रणाली का हिस्सा हैं और छींकने, खुजली या खांसने जैसे एलर्जी के लक्षणों को ट्रिगर करते हैं।

त्वचा की सेहत का बचाव करता है

आड़ू में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी भी मौजूद होता है, जो एक एंटीऑक्सीडेंट है। शोध बताते हैं कि नियमित रूप से विटामिन-सी का सेवन करने से त्वचा की बनावट और स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। यह शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट कोलेजन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कोलेजन त्वचा के लिए सपोर्ट सिस्टम के रूप में काम करता है, जो घाव भरने को बढ़ावा देता है और त्वचा की ताकत को बढ़ाता है।

कुछ कैंसर से बचाव कर सकता है

आड़ू पॉलीफेनोल्स से भरे हुए होते हैं, यह एक तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। ऐसे देखा गया है कि ये कई तरह के कैंसर सेल्स के विकसित होने और इसे रोकने में काम आ सकते हैं। इसके अलावा, आड़ू का गूदा और छिलका भी कैरोटीनॉयड और कैफिक एसिड से भरपूर होता है - इन दो प्रकार के एंटीऑक्सिडेंट में कैंसर विरोधी गुण पाए जाते हैं।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Edited By: Ruhee Parvez