नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। मसल्स यानी मांसपेशियां आपके टोटल लीन बॉडी मास (या एलबीएम) का सबसे बड़ा हिस्सा होती हैं, जोकि फैट के अलावा, आपके शरीर के निर्माण के लिये सबकुछ है। इतना ही नहीं, आपकी मांसपेशियां आमतौर पर आपके शरीर के वजन का 50% से 60% होता है। आपको चलने-फिरने में मदद पहुंचाने और संतुलन बनाए रखने के अलावा मांसपेशियों की भूमिका कहीं ज्यादा होती है। 

मांसपेशियों की सेहत आपको बता सकती है कि आपकी उम्र सही रूप में बढ़ रही है और आप एक सक्रिय और आत्मनिर्भर जीवन बिताने वाले हैं या नहीं। इसलिए, यह समझना महत्वपूर्ण है कि मांसपेशियों का स्वास्थ्य क्या है और यह आपके जीवन को कैसे प्रभावित करता है। यहां कुछ चीजें हैं जो आपको अपनी मांसपेशियों और मांसपेशियों के स्वास्थ्य के बारे में जरूर जाननी चाहिए:

उम्र के अनुसार आपका मसल मास

40 साल की उम्र से, वयस्क प्रति दशक 2 अपने मसल्स का 8 प्रतिशत तक खो सकते हैं। 70 साल की उम्र के बाद यह दर दोगुनी हो सकती है। वास्तव में, खराब पोषण, बीमारी और पुरानी बीमारियों के कारण भी मांसपेशियों का नुकसान तेज होता है। मसल्स का ह्रास आपके ऊर्जा के स्तर और गतिशीलता को प्रभावित कर सकता है, गिरने और फ्रैक्चर के जोखिम को बढ़ा सकता है और यहां तक कि बीमारी या सर्जरी के ठीक होने की गति धीमी हो सकती है। यदि आपकी मांसपेशियां स्‍वस्‍थ हैं तो आप आसानी से चल-फिर सकते हैं और अपने शरीर को मजबूत बनाए रख सकते हैं। ये रोजमर्रा की गतिविधियों में आपका सहयोग करती हैं, जैसे खेलना, डांस, अपने कुत्ते को टहलाना, तैरना, और अन्य चीजें जिनमें शारीरिक गति की आवश्यकता होती है। जब आपकी मांसपेशियां मजबूत होती हैं तो आपके जोड़ बेहतर ढंग से कार्य करने में सक्षम होते हैं। जैसे, अगर उस घुटने के आसपास की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं, तो आपको घुटने में चोट लगने का खतरा अधिक हो

सकता है। मांसपेशियों का स्वास्थ्य आपके संतुलन को बनाए रखने में भी मदद करता है। 

मांसपेशियां और प्रतिरक्षा सेहत

यदि आप एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली या इम्यून सिस्टम का निर्माण करना चाहते हैं और बैक्टीरियल तथा वायरल इंफेक्शन के खतरे को कम करना चाहते हैं तो अपनी मांसपेशियों को कम ना समझें। मसल टिशू को प्रतिरक्षा कोशिकाओं को सक्रिय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है। अपनी प्रतिरक्षा सेहत को बेहतर बनाने के लिए फल, सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स और बीन्स और लो-फैट डेयरी लें। ये खाद्य पदार्थ एक साथ मिलकर, कैल्शियम, विटामिन डी, आयरन और एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे सूक्ष्म पोषक तत्व प्रदान करते हैं, जो आपके इम्युन सिस्टम को मजबूत और मांसपेशियों की सेहत के पुनर्निर्माण में मदद कर सकते हैं।

मांसपेशियों का ह्रास और सुधार

जब आप स्वस्थ होने के क्रम में होते हैं तो आपकी मांसपेशियां आपकी ताकत और ऊर्जा की अहम स्रोत होती हैं। जब आप बीमार होते हैं या अस्पताल में भर्ती होते हैं तो आपके शरीर को उतना पोषक तत्व नहीं मिल पाता है जितना उसे ठीक होने के लिए जरूरी होता है, जैसे प्रोटीन। यह मसल टिशू को कम करने का कारण बनता है। इस तरह के मसल ह्रास की वजह से बीमारी से ठीक होने में विलंब होता है, जख्म धीमी गति से भरता है और जीवन की गुणवत्ता प्रभावित होती है।

मांसपेशियां जीवन के कई पहलुओं में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं और आपकी ताकत को परखने और उसे बेहतर बनाने के कई प्रभावी तरीके हैं। मांसपेशियों के ह्रास को रोकने के सेहतमंद तरीकों के बारे में जानने के

लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

(डॉ. इरफान शेख, एबॅट के न्‍यूट्रीशन बिजनेस में मेडिकल एंड साइंटिफिक अफेयर्स विभाग के प्रमुख से बातचीत पर आधारित)

Pic credit- freepik

Edited By: Priyanka Singh