नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Bottle Gourd Benefits: सभी सब्ज़ियां हमारी सेहत को किसी न किसी तरह फायदा पहुंचाने का काम करती हैं। खासतौर पर मौसमी सब्ज़ियों को अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करना चाहिए, इससे आप सीज़नल बीमारियों से भी बचे रहते हैं। सब्ज़ियां तो सेहतमंद होती ही हैं, लेकिन क्या कभी आपने इनके छिलकों के फायदे के बारे में सुना है। जी हां, आपने ही पढ़ा। ऐसी ही एक सब्ज़ी है लौकी की, जिसके छिलके आमतौर पर फेंक दिए जाते हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि लौकी के छिलके आपको कई तरह से फायदा पहुंचा सकते हैं।

लौकी का प्रयोग सिर्फ सब्ज़ी के रूप में नहीं, बल्कि इसके छिलके भी कई समस्याओं में एक कारगर औषधि का काम करते हैं। अगर आप भी आज तक इनके फायदों के बारे में अनजान थे, तो आइए जानें इसके बारे में सबकुछ।

इन 5 समस्याओं का अचूक इलाज है लौकी के छिलके

1. सनबर्न

आपने यह शायद पहले कभी न सुना हो, लेकिन लौकी के छिलके सूरज के किरणों से झुलसी त्वचा या टैनिंग से राहत दिलाने का काम करते हैं। इसके लिए बस लौकी के छिलकों का पेस्ट बनाकर उसे त्वचा पर लगाना है और फिर धो लेना है।

2. जलन

ज़्यादा गर्मी से कई लोगों के पैरों या फिर तलवों में जलन की परेशानी शुरू हो जाती है। इसके उपाय के लिए भी लौकी के छिलके आपके काम आ सकते हैं। इन छिलकों को त्वचा पर रगड़ने से राहत मिलती है।

3. पाइल्स

बवासीर यानी पाइल्स की दिक्कत होने पर भी लौकी के छिलके मददगार साबित हो सकते हैं। इन छिलकों को सुखाकर इसका पाउडर बना लें और इसे रोज़ाना ठंडे पानी के साथ दिन में दो बार पिएं। आपको इस समस्या से जल्द राहत मिलेगी।

4. गैस

गैस की समस्या से परेशान हैं, तो अपनी डाइट में लौकी के छिलकों को शामिल कर सकते हैं। इन छिलकों में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है, जो गैस, कब्ज़ या इनडायजेशन की समस्या से राहत दिलाने का काम करता है।

5. बालों

लौकी में फोलेट, विटामिन-सी, विटामिन-बी, कैल्शियम, आयरन और ज़िंक जैसे पोषक तत्व भी होते हैं, जो बालों की सेहत के लिए काफी मददगार साबित होते हैं। लौकी के छिलकों को डाइट में इस्तेमाल किया जाए तो इसका असर आपके बालों में भी देखा जा सकता है।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Edited By: Ruhee Parvez