नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। शरीर को सेहतमंद रहने के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की जरूरत होती है। आवश्यक पोषक तत्वों में विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फाइबर, प्रोटीन, ज़िंक, सोडियम, पोटैशियम आदि प्रमुख पोषक तत्व शामिल हैं। इनमें किसी एक चीज की कमी से सेहत पर बुरा असर पड़ता है। खासकर कैल्शियम की कमी से कई प्रकार की बीमारियां होती है। इसकी कमी से बच्चे और बड़े सभी प्रभावित होते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो बच्चों के शारीरिक विकास में कैल्शियम की अहम भूमिका होती है। इसकी कमी से शरीर की लंबाई नहीं बढ़ती है। वहीं, वयस्कों में कैल्शियम की कमी से हाथों और पैरों में झुनझुनी, मसल्स यानी मांसपेशियों में दर्द, दांतों में सड़न आदि लक्षण देखे जाते हैं। इसके लिए सही दिनचर्या का पालन, संतुलित आहार और प्रतिदिन एक्सरसाइज जरूरी है। अगर आप भी कैल्शियम की कमी से परेशान हैं, तो डाइट में इन चीजों को जरूर शामिल करें-

कैल्शियम क्या है

कैल्शियम एक प्रकार खनिज है। यह शरीर की हड्डियों और दांतों को मजबूत करने में मुख्य भूमिका निभाता है। जानकारों की मानें तो हड्डियों और दांतों में शरीर का 99 फीसदी कैल्शियम पाया जाता है। वहीं, 1 फीसदी कैल्शियम शरीर के अन्य मुख्य कार्यों में मदद करता है। डॉक्टर नियमित अंतराल पर कैल्शियम जांच की सलाह देते हैं। इसके लिए ब्लड टेस्ट की जाती है।

डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करें

कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए रोजाना डेयरी प्रोडक्ट्स का अधिक से अधिक सेवन करें। इसके लिए दूध, दही, पनीर, मक्खन आदि चीजों को डाइट में शामिल करें। वहीं, बच्चों को रोजाना एक गिलास दूध पीने की सलाह दें।

सीफूड का सेवन करें

सीफूड में भी कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाई जाती है। साथ ही इसमें ओमेगा-फैटी एसिड पाया जाता है। इसके लिए सीफ़ूड जैसे सैल्मन, टूना, मेकरेल का सेवन कर सकते हैं। सीफूड के सेवन से कैल्शियम की कमी दूर हो जाती है।

हरी सब्जियां और फलों का सेवन करें

डॉक्टर हमेशा डाइट हरी सब्जियां और फलों को डाइट में शामिल करने के लिए कहते हैं। हरी सब्जियों और फलों में कैल्शियम पाई जाती है। इसके लिए डाइट में केल, पालक, सोयाबीन, ब्रोकली और संतरा आदि चीजों को जरूर शामिल करें।

Flexitarian Diet फॉलो करें

Flexitarian diet को हॉफ वेज डाइट भी कहा जाता है। इस डाइट में साग सब्जियां पर अधिक ध्यान दिया जाता है। वहीं, कभी कभार लाल मांस और मछली का भी सेवन कर सकते हैं। इस डाइट को अपनाने से आयरन की कमी, ओमेगा फैटी एसिड्स और कैल्शियम की कमी दूर हो जाती है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Pravin Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट