नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। हम में से ज़्यादातर लोगों को रात में खाने के बाद कुछ मीठा खाने का दिल करता है। अगर आप वज़न कम करने में लगे हैं तो ज़ाहिर है आप मीठा खाने की इस इच्छा का किसी फल से पूरा करेंगे। फल संहतमंद, जूसी, पौषण से भरपूर, प्राकृतिक तौर पर मीठे और किसी मिठाई या चॉकलेट से कहीं गुना बेहतर हैं। हालांकि, हमेशा इस बात पर बहस होती आई है कि रात में फल खाना कितना सही होता है?

ऐसी है मान्यता

आयुर्वेद की मानें तो आप जब खाना खाते हैं और जब फल खाते हैं तो इन दोनों का असर पाचन क्रिया पर अलग तरह से पड़ता है। वहीं, प्राचीन चिकित्सा प्रणाली यह बताती है कि सोने से कम से कम 3-4 घंटे पहले डिनर कर लेना चाहिए। अगर आप फल और खाना एक साथ खाते हैं तो आपका शरीर पहले फलों को पचाएगा और उसके खाने को। इसकी वजह से पेट खराब की समस्या हो सकती है और साथ ही आपका शरीर खाने का ज़रूर पौषण का फायदा भी नहीं उठा पाएगा।

वहीं, कई लोगों का मानना है कि सोने से पहले फल खाने से अच्छी नींद आती है, लेकिन होता इससे बिलकुल उल्टा है। फल शरीर में चीनी छोड़ते हैं, जो आपकी ऊर्जा को बढ़ा देता है और आपको सोते समय कठिनाई होती है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप रात में फल नहीं खा सकते, लेकिन आपको समय से खाने की ज़रूरत है। आपको फल कम से कम खाना के 30 मिनट बाद खाने चाहिए।

कौन सा फल खाएं?

आप सोने से पहले कौन सा फल खाते हैं इस पर भी ध्यान देना काफी ज़रूरी है। रात में प्लेट भर फल न खाएं। अगर आप मीठा खाने को तरस रहे हैं तो सिर्फ फल का एक टुकड़ा ही खाएं जिसमें चीनी की मात्रा कम और फाइबर ज़्यादा हो। जैसे तरबूज़, नाशपाती या कीवी जैसे फल। साथ ही फल खाते ही न सो जाएं।

तो बात सिर्फ इतनी सी है कि आपके खाने और फल खाने के बीच कम से कम 30 मिनट का गैप होना चाहिए। अगर हो सके तो फल आप शाम को रात के खाने से एक-दो घंटे पहले ही खा लें। इस तरह आपका पाचन पंत्र दोनों तरह के खाने को आराम से और अच्छे से पचा पाएगा। 

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप