आजकल मकई अर्थात भुट्टे का सीजन चल रहा है। भुट्टे को भूनकर और इसके दानों पर नींबू और काला नमक लगाकर खाने से इसका स्वाद और बढ़ जाता है। मकई अनेक पोषक तत्वों से भरपूर होती है। इसमें कार्बोहाइड्रेट, विटामिन सी और फाइबर पर्याप्त में पाया जाता है। भुट्टे में वसा बहुत कम मात्रा में पाई जाती है। डाइटीशियंस और न्यूट्रीशनिस्ट्स का कहना है कि मकई के सेवन से एलर्जी होने की आशंका भी काफी हद तक कम हो जाती है। यही नहीं एक अध्ययन से यह भी पता चला है कि मकई के दानों के सेवन से ब्लड में कोलेस्ट्रॉल और ट्राईग्लिसराइड का लेवल कंट्रोल रहता है।

गौरतलब है कि रक्त में इन दोनों तत्वों के नियंत्रण से हाई ब्लड प्रेशर व हृदय रोगों के होने की आशंकाएं बढ़ जाती हैं। एक अन्य शोध से भी इस तथ्य का पता चला है कि मकई का सेवन शरीर में रक्त की कमी की शिकायत को दूर करने में सहायक होता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि एनीमिया की शिकायत शरीर में लौह तत्व अर्थात आयरन की कमी से होती है।

ऑनलाइन मकई खरीदने के लिए यहां क्लिक करें

मकई का सेवन करने से शरीर द्वारा आयरन को अवशोषित करने की क्षमता 50 प्रतिशत तक बढ़ जाती है। मकई में मिलने वाले पोषक तत्वों के कारण ही इसका सेवन कई तरह से किया जाता है, जैसे उबले हुए दानों का तिल के साथ सेवन करना, सलाद के साथ सेवन करना, सूप बनाने में, रायते में प्रयोग आदि। इसके अलावा देश के कुछ हिस्सों में चावल पकाते समय मकई के दानों को इसमें डाल दिया जाता है।

Posted By: Priyanka Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप